ऋषिकेश : ऑक्सीमीटर और ऑक्सीजन फ्लोमीटर महंगे दामों में बेचने वाला फिजियोथैरेपिस्ट गिरफ्तार, सामान जब्त

ऋषिकेश : “मिशन हौसला” के अंतर्गत, कोविड- महामारी का फायदा उठाकर पीड़ित-गरीब व्यक्तियों को ऑक्सीमीट और ऑक्सीजन फ्लोमीटर महंगे दामों में बेचने वाला फिजियोथैरेपिस्ट को निरीक्षक रितेश शाह समेत उनकी टीम ने गिरफ्तार किया। साथ ही कब्जे से 05 ऑक्सीमीटर और 10 ऑक्सीजन फ्लोमीटर सहित एक फ्लोमीटर बेचकर लिए गए ₹6000 भी बरामद की। साथ ही होंडा अमेज गाड़ी सीज की।

आज प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश ने पुलिस टीम गठित की।  गठित पुलिस टीम द्वारा मुखबिर तंत्र भी सक्रिय किए। जिसपर कल शाम पुलिस टीम को सोशल मीडिया एवं मुखबीर द्वारा सूचना मिली कि एक व्यक्ति दिल्ली से चोरी-छिपे मेडिकल उपकरण सस्ते दामों में लाकर, अपने होंडा अमेज गाड़ी में रखकर पीड़ित और जरूरतमंदों को दोगुने तिगुने दामों में बेचकर महामारी का फायदा उठा रहा है। तभी एक कोविड पीड़ित व्यक्ति फ्लोमीटर खरीदने के लिये इस व्यक्ति से बात कर रहा है, और यह उसे 6500 रूपये में लेने के लिये कह रहा है। जिनकी आपसी बातचीत की रिकार्डिंग भी सोशल मीडिया व न्यूज पोर्टल में भी वायरल हुई।

इस सूचना पर गठित पुलिस टीम ने मुखबिर द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर से खुद ग्राहक बन संपर्क किया गया। जिसके द्वारा पुलिस टीम को भी ऑक्सीजन फ्लोमीटर महंगे दामों में बेचने की बात की गई। सबूत के लिए पुलिस द्वारा पैसे देकर एक ऑक्सीजन फ्लोमीटर खरीदा भी गया। जिसपर पुलिस टीम द्वारा तत्काल उक्त व्यक्ति को पकड़ कर पूछताछ की गई तो इसकी होंडा सिटी गाड़ी में मेडिकल संबंधी उपकरण ऑक्सीमीटर/ ऑक्सीजन फ्लोमीटर बरामद हुए, और सामान के विषय में पूछा गया तो इसके द्वारा बताया गया कि कुछ सामान मेरे घर में भी रखा हुआ है। जिसपर पुलिस टीम द्वारा तत्काल उपरोक्त फिजियोथैरेपिस्ट को साथ ले जाकर शेष ऑक्सीमीटर एवं ऑक्सीजन फ्लोमीटर उसके घर से बरामद किया।

पूछताछ करने पर फिजियोथैरेपिस्ट मुकेश कुमार ने बताया कि उसने 1993 से 1996 तक बिहार से फिजियोथैरेपिस्ट की है और कई वर्षों से मेडिकल से संबंधित सामान की बिक्री करता आ रहा हूं। पिछले 1 साल से ऋषिकेश में रहकर मेडिकल से संबंधित सामान का व्यापार कर रहा हूं। वर्तमान समय में कोविड-19 के चलते बाजारों में ऑक्सीजन फ्लोमीटर की बहुत ही ज्यादा कमी हो गई है। जिस कारण में जरूरतमंद लोगों को काफी ऊंचे दामों में बेच रहा था। बताया कि ये सामान दिल्ली से चोरी-छिपे किसी के माध्यम से मंगवाया था। जिनमें से मैंने काफी सामान ऋषिकेश में जरूरतमंद लोगों को बेच दिया है, एवं कुछ सामान मेरे घर में रखा हुआ है। मेरे द्वारा अभी 1 फ्लोमीटर एक व्यक्ति को बेच दिया गया है, मेरे पास से बरामदा ₹6000/- रुपये वही हैं। अभियुक्त के विरुद्ध कोतवाली ऋषिकेश में मुकदमा अपराध संख्या 209/21 धारा 420/188 आईपीसी, 53 आपदा प्रबंधन अधिनियम व 3 महामारी अधिनियम 1897 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया है। अभियुक्त को समय से माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा। बरामदा वाहन को वाहन अधिनियम के अंतर्गत चीज किया गया है।

पुलिस टीम
1- रितेश शाह,प्रभारी निरीक्षक
2- उप नि0 ओमकातं भूषण,प्रभारी एस.ओ.जी देहात
3- कांस्टेबल नवनीत नेगी
4- कांस्टेबल सोनी कुमार
5- कांस्टेबल अनित कुमार
6- कांस्टेबल सचिन कुमार
7- कांस्टेबल कमल जोशी
8- कांस्टेबल प्रवीण सिंधु

नाम पता अभियुक्त फिजियोथैरेपिस्ट

मुकेश कुमार पुत्र श्री राजेंद्र यादव निवासी 9/88 आवास विकास कॉलोनी आईडीपीएल ऋषिकेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here