महिला की डिलीवरी से इंकार, दो नवजातों की मौत, फिर महिला को दून-कोरोनेशन-गांधी में दौडा़या, मौत

देहरादून : देहरादून से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया। जी हां एक महिला ने अपने दोनों नवजात बच्चों को खोया और फिर बेशर्म सिस्टम के कारण महिला की मौत हो गई।

अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविन्द पाण्डेय ने बताया  कि एक महिला सुधा निवासी देहराखास गर्भवती थी। महिला को 9 जून को गांधी अस्पताल से यह कहकर लौटाया गया कि डिलीवरी में अभी वक्त है, इसके बाद महिला की डिलीवरी घर पर हुई तथा दोनों बच्चों की मौत हो गई।

11 जून को जब वही महिला पैर में लगी चोट का उपचार कराने कोरोनेशन अस्पताल गई तो उसे वहां से गांधी अस्पताल भेज दिया गया। गांधी अस्पताल द्वारा यह कहकर दून अस्पताल तथा हायर सेंटर भेज दिया गया कि कोविड टेस्ट होना है। महिला निजी अस्पताल में जाकर फिर वापस दून पंहुची जहां उपचार से पहले ही उसकी मृत्यु हो गयी। जिलाधिकारी द्वारा उक्त घटना मजिस्टेªट जाचं के लिए अपर जिलाधिकारी प्रशासन को जांच अधिकारी नामित किया है।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने अवगत कराया है कि जिस किसी व्यक्ति को उक्त घटना/मृत्यु के कारणों की जानकारी हो और वह जानकारी लिखित अथवा मौखिक रूप से दर्ज कराना चाहता हो विज्ञप्ति प्रकाशित हाने के एक सप्ताह के भीतर किसी भी कार्यदिवस में उनके कार्यालय में उपस्थित होकर लिखित/मौखिक बयान दर्ज कराकर जानकारी उपलब्घ करा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here