उत्तराखंड बिग ब्रेकिंग : इस जिले में श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे मंदिर के कपाट

नैनीताल : कोरोनावायरस कोविड-19 के चलते जहां पूरा भारत वर्ष लगभग 3 महीने से लॉक डाउन की स्थिति में था। आज उसी क्रम में केंद्र सरकार द्वारा सभी प्रदेशों में स्थिति को सामान्यता कर दिया है ,जिससे की आम जनजीवन पर कोई फर्क ना पड़े।

गौरतलब है कि देश के कई हिस्से अभी भी इस महामारी की चपेट में बुरी तरह से फंसे हुए हैं। इसे देखते हुए सरकार ने प्रदेश को कई तरह के जोन में बांटा है। अत्यधिक संक्रमित स्थानों पर कंटेंटमेंट जोन किया गया है। क्योंकि लगभग 3 महीने से सभी धार्मिक स्थल बंद किए हुए हैं। इसी को देखते हुए सरकार ने अभी धार्मिक स्थलों को खोलने का फैसला रुका हुआ है। इसी क्रम में लाल कुआं के हल्दुचौड स्थित महालक्ष्मी अष्टादश मंदिर जो कि कुमाऊं का सबसे बड़ा मंदिर है, आज भी दर्शन के लिए नहीं खोला गया क्योंकि नैनीताल जनपद अभी भी रेड जोन में शामिल किया गया है।

इसे देखते हुए श्रद्धालुओं के लिए अभी भी मंदिर के कपाट बंद किए गए हैं। इस बाबत जब मंदिर के महामंडलेश्वर सोमेश्वर यति महाराज जी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अभी जिला प्रशासन द्वारा मंदिर खुलने की अनुमति नहीं प्राप्त हुई है ,लेकिन उनके द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाओ संबंधित उपाय किए गए हैं, जिसमें कि मंदिर का पूरी तरह से सैनिटाइजेशन क्या गया है साथ ही साथ उन्होंने बताया कि अगर सरकार रेड जोन समाप्त होने के बाद मंदिर खोलने की अनुमति देती है तो भी उनके द्वारा मंदिर में प्रवेश के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी जिसमें कि सभी श्रद्धालु एक उचित दूरी बनाकर मंदिर में दर्शन कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here