गदरपुर : मंत्री जी की आई आफत, ग्रामीण बोले- जो वोट मांगने आएगा शर्मिंदा होकर जाएगा, इस बार NOTA

गदरपुर के ढीमरखेड़ा फतेहगंज के ग्रामीणों ने सड़क नहीं बनने से रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा दिया जिससे शिक्षा मंत्री की आफत आ गई है। एक ओर जहां अरविंद पांडे वोट मांगने के लिए निकले तो वहीं गांव के लोगों ने साफ कहा कि सड़क नहीं तो वोट नहीं. साथ ही गांव वालों ने इस बार नोटा का बटन दबाने की चेतावनी दी।

आपको बता दें कि उधमसिंह नगर जिले के गदरपुर के निकटवर्ती गांव ढीमरखेड़ा फतेहगंज के ग्रामीण 20 सालों से सड़क बनने का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन ये सपना आज तर पूरा नहीं हो पाया। लेकिन इस बार ग्रामीणों ने सड़क नहीं बनने के कारण रोड नहीं तो वोट नहीं देने का मन बनाया है। बता दें कि ढीमरखेड़ा फतेहगंज के ग्रामीणों ने हाथ में पोस्टर लिए चुनाव बहिष्कार की बात कही।

विरोध प्रदर्शन कर रहे स्थानीय युवाओं ने कहा कि कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे पिछले 10 सालों से यहां से विधायक हैं और यहां पर सड़क नहीं बनने से ग्रामीणों को अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है इसलिए मजबूर होकर आज उन्होंने रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा दिया है। ग्रामीणों ने कहा कि अगर उनकी मांग नहीं मानी गई तो वो इस बार नोटा का बटन दबाएंगे।

वहीं इस पर कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि पिछले 50 सालों में गदरपुर की सड़कों की हालत बहुत खराब थी जिनमे से कुछ सड़कें मैनें बनवाई। लेकिन 5 सालों में सभी सड़कों का बनना संभव नहीं था लेकिन जनता अगर मुझे मौका देती है तो बाकी सभी सड़कें दुरुस्त होंगी। अरविंद पांडे ने कहा कि खस्ता हालत सड़कों को आगामी भाजपा सरकार बनने के बाद वह विधायक बनते ही जल्द ही पूरा करवा लेंगे। अरविंद पांडे ने कहा कि कुछ ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया है. उनके आक्रोश का भी हम सम्मान करते हैं और 10 मार्च के बाद इन सड़कों का काम शीघ्र शुरू करवा दिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here