9 और 10 मार्च को राजभवन में आयोजित है बसंतोत्सव, आइएगा जरूर

अगर आपको फूल- पौधों से प्यार है तो आइए और अगर नहीं है तब तो 9 और 10 मार्च को जरूर देहरादून स्थित राजभवन पहुंचिए। राजभवन में दो दिनों के लिए बसंतोत्सव का आयोजन किया गया है। इन दोनों दिनों में आप फूल पौधों की खूबसूरत दुनिया का दीदार बेहद करीब से कर सकते हैं।
इन दोनों ही दिनों में राजभवन आम नागरिकों के लिए पूर्ण रूप से खुला रहेगा। कोई भी आम नागरिक यहां प्रवेश पा सकता है और फूलों और पौधों के दीदार कर सकता है। बेहतर होगा कि अपने साथ एक आईडी लेकर आएं।
राज्यपाल ने किया है आमंत्रित 
राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने शुक्रवार को राजभवन में 09 व 10 मार्च को आयोजित होने वाली पुष्प प्रदर्शनी बसंतोत्सव 2019 की जानकारी दी। राज्यपाल ने कहा कि ’’इन दो दिनों में पुष्प उत्पादकों के लिए कई प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा। उत्तराखण्ड के स्थानीय उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी। बच्चों को चित्रकला में उनकी प्रतिभा दिखाने का अवसर प्राप्त होगा। यहाँ की लोक संस्कृति, गीत संगीत का प्रदर्शन होगा। यह बसंतोत्सव वास्तव में उत्तराखण्ड की प्रकृति और संस्कृति का उत्सव है। मैं आपके माध्यम से देहरादूनवासियों तथा प्रदेशवासियों से अनुरोध करूंगी कि सपरिवार आये और इस उत्सव के भागीदार बनें।’’
पॉलीथीन से रखिएगा दूरी 
बसंतोत्सव में पॉलीथीन पर पूरी तरह से प्रतिबंध है। राजभवन के भीतर पॉलीथीन के प्रयोग पर प्रतिबंध है। लिहाजा हमारी सलाह है कि अगर आप राजभवन में बसंतोत्सव का आनंद लेने अपने परिवार के साथ आ रहें हैं तो कपड़े या जूट का बैग लेकर आइए। बैग इसलिए लाने की सलाह दे रहें हैं कि क्योंकि बसंतोत्सव में आर्गेनिक उत्पादों के साथ ही शहद, फूलों की किस्में, गमले, हैंडिक्राफ्ट्स के आइटम मिलेंगे और हमें नहीं लगता कि आप इन्हें खरीदे बगैर वापस जा पाएंगे।
दो लाख पहुंचेगा आंकड़ा 
उत्तराखंड के राजभवन में होने वाला बंसतोत्सव आम नागरिकों में इतना लोकप्रिय हो चुका है कि अब लाखों लोग इसे देखने आ रहें हैं। मोटे आंकड़े के मुताबिक पिछले साल तकरीबन डेढ़ लाख लोगों ने बंसतोत्सव में शिरकत की। उद्यान विभाग को उम्मीद है कि इस बार दो लाख लोग बसंतोत्सव देखने के लिए पहुंचेंगे। आपको बता दें कि ये बसंतोत्सव बच्चे बूढ़ों, जवान हर एक लिए बिना किसी शुल्क के खुला है। तो अगर फूलों के बीच बिताना चाहतें हैं कुछ पल तो चले आइए राजभवन 9 और 10 मार्च को।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here