नानकमत्ता हत्याकांड मामले में बरेली पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग, वैगन-आर कार पर पैनी नजर

नानकमत्ता में सर्राफ समेत उनकी मां, नानी और ममेरे भाई की हत्या से पूरे शहर में अभी तक सनसनी फैली हुई है। पुलिस इस मामले का खुलासा करने के लिए जुटी हुी है। कई टीमें आऱोपियों की धरपकड़ में जुटी है। एसओजी नंबरों की डिटेल छान रही है। वहीं बता दें कि बीते दिन पुलिस 15 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जिसमे बरेली पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। 6 टीमे सीसीटीवी खंगालने में जुटी है।गुरुवार को शाही नगर पंचायत के सभासद अनिल रस्तोगी की मां सन्नो देवी व बेटे उदित का शव बरेली भेज दिया गया।

नानकमत्ता के वार्ड छह निवासी ज्वेलर अंकित और उसके ममेरे भाई उदित का शव घर से करीब 2 किलोमीटर दूर सिद्दा गांव के पास देवहा नदी के किनारे मिला था जबकि मां और नानी का शव घर में मिला था। इसके बाद एसपी सिटी ममता बोहरा के नेतृत्व में पुलिस और एसओजी की छह टीमें हत्यारों का पता लगाने के लिए जांच में जुटी हैं। पुलिस रंजिश या प्रापर्टी विवाद, लूट समेत तमाम बिंदुओं पर जांच कर रही है। मामले में 15 से अधिक संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। सीओ खटीमा भूपेंद्र सिंह भंडारी ने बताया कि संदिग्ध लोगों से पूछताछ में कुछ अहम सुराग मिले हैं।

एसपी सिटी ममता बोहरा ने गुरुवार को बताया कि अंकित और उदित का गला रेतकर हत्या की गई है। साथ ही दोनों के सिर पर भी वार किया था। पुलिस सूत्रों की मानें तो हत्याकांड को अंजाम देने में वैगन-आर कार सवार 4 से 5 लोग रडार पर हैं। सीसीटीवी से पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। एक कार की जानकारी जुटाने में पुलिस लगी है। पुलिस ने अंकित के घर के आसपास सहित नानकमत्ता बाजार से सिद्दा गांव तक 60 से अधिक सीसीटीवी कैमरे खंगाले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here