बाबा बोले : अपने नागरिकों को स्वस्थ्य न रखने वाले राजा को दंड मिले, ये करके दिखाया तो मैं फांसी चढ़ने को तैयार

अपने बयानों को लेकर योग गुरु बाबा रामदेव इन दिनों चर्चा में है वह एक बार फिर बाबा रामदेव ने ऐसा बयान दिया है जिसके बाद को एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं।

जी हां बाबा रामदेव ने कहा है कि, जो राष्ट्र अपने नागरिकों को स्वस्थ न बनाए, उस राष्ट्र के राजा को दंड मिले। वे इस देश में ऐसा नया कानून बनवाएंगे कि बीमार पड़ने पर उसके लिए जिम्मेदार व्यक्ति के लिए दंड की व्यवस्था हो। किसी के घर में बच्चे बीमार पड़े तो मां-बाप को जेल में डाल दो। यह बात बाबा रामदेव ने गुरुवार को योगग्राम में योग शिविर में कही।

बाबा रामदेव ने कहा कि जब बच्चे थे तब मेरा भारत महान लिखा करते थे। बड़े होकर देखा कि मेरा भारत तो बीमार व लाचार है। कई बीमारियों से ग्रस्त है। बाबा कहते है कि उनके पास समाधान है। इसके लिए कानून बनना चाहिए। जो मां-बाप अपने बच्चों को स्वस्थ न बनाए उन्हें दंड दो। पहले परिवार को जिम्मेदार ठहराओ कि ऐसे बच्चे पैदा क्यों किए जो बीमार हो रहे। अगर बीमार हुए तो उन्हें योग क्यों नहीं कराया।

बाबा रामदेव ने कहा कि बीमार होना राष्ट्र को ताकतवर बनाना है या कमजोर, यह सोचना होगा। कहा कि जैसे किसी को अनपढ़ रखना पाप व सामाजिक, राष्ट्रीय, राजनीतिक, सांस्कृतिक, वैज्ञानिक अपराध भी है। विज्ञान में पढ़ाया जाता है कि आदमी है तो बीमार तो होगा ही। मैं कहता हूं कि योग करेगा तो कभी बीमार नहीं होगा। बाबा बोले ड्रग इंडस्ट्री पूरी दुनिया को बीमार व अनपढ़ रखना चाहती है। जब ये होगा तभी तो उनका राज चलेगा।
बाबा रामदेव ने कहा कि एलोपैथी से कोई दस दिन के अंदर प्रोस्टेड कैंसर को ठीक करके दिखा दे तो रामदेव फांसी चढ़ने को तैयार है। ये कंपीटिशन नहीं है बल्कि ये बताना चाहता हूं कि हमने इसका इलाज करके दिखाया है।
यूनिवर्सिटी बनाई, उसका चांसलर बना
बाबा रामदेव बोले कि मुझसे मेरी डिग्री पूछते हैं। पहले गुरुकुल का विद्यार्थी रहा। वहीं आचार्य बना। फिर यूनिवर्सिटी बनाई उसका चांसलर बना। अभी दस हजार बच्चों को पढ़ाते हैं। दावा किया कि जल्द ही पतंजलि दुनिया की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी बनेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here