आयुष्मान के कीर्तिमान, प्रदेश में 6 लाख से अधिक बार लाभार्थी ले चुके हैं मुफ्त सुविधा का लाभ

ayushman Bharat Golden Card

 

प्रदेश सरकार के मुफ्त उपचार पर खर्च हो चुके हैं 10 अरब से अधिक

देहरादून (राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण) प्रदेश में चल रही आयुष्मान योजना के अंतर्गत अभी तक 6 लाख से अधिक बार लाभार्थी मुफ्त उपचार सुविधा का लाभ ले चुके हैं और इस सब में प्रदेश सरकार की 10 अरब से अधिक की धनराशि खर्च हो चुकी है। उत्तराखंड में आयुष्मान योजना की प्रगति देखी जाए तो अखिल भारतीय स्तर पर भी यह सम्मानजनक और गौरवान्वित करने वाली स्थिति है।

प्रदेश में अब तक बन चुके हैं 48.82 लाख आयुष्मान कार्ड

राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा संचालित आयुष्मान योजना ने अभी अपने सफर के चार साल पूरा कर पाई है, लेकिन जन कल्याण की इस योजना की प्रगति उत्साहित करने वाली तो है ही अपेक्षाओं के अनुरूप हासिल होने के कारण संतोषजनक भी है। प्रदेश भर में अभी तक 48.82 लाख से अधिक आयुष्मान कार्ड बन चुके हैं। वहीं 6 लाख से अधिक बार लाभार्थी योजना के अंतर्गत निशुल्क उपचार सुविधा का लाभ ले चुके हैं। इस सेवा पर प्रदेश सरकार का अभी तक 10 अरब से अधिक खर्च हो चुका है।

जनपद लाभार्थी उपचार पर खर्च
अल्मोड़       13139                     21,24,37,330
बागेश्वर        5979                      8,38,61,194
चमोली        19220                    32,34,19,595
चंपावत        7146                      12,06,66,206
देहरादून       178755                  3,30,83,50,958
हरिद्वार         104533                  2,20,41,00,615
नैनीताल         51944                   68,89,18,652
पौड़ी गढ़वाल    50602                   82,51,66,285
पिथोरागढ़        15920                   17,18,20,595
रूद्रप्रयाग        10980                    21,55,09,524
टिहरी            36281                    67,30,14,567
उधमसिंहनगर    87418                   1,40,08,81,552
उत्तरकाशी       19428                     36,71,15,546

मीडिया सेल
राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण, उत्तराखंड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here