दारोगा और सिपाही ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, तनाव में था सिपाही

पुलिस की नौकरी आसान नहीं है. दिन रात ड्यूटी करने के बावजूद लोगों के ताने सुनने को मिलते हैं साथ ही छुट्टी न मिलने के कारण न ही परिवार को समय दे पाते हैं जिस कारण परिवार में भी कलेश हो जाता है. तनाव के कारण अब तक कई पुलिस अधिकारी और कर्मचारी खौफनाक कदम उठा चुके हैं जिनके दो मामले सामने आए हैं यूपी से.

मिली जानकारी के अनुसार गाजियाबाद कविनगर थाना क्षेत्र के संजयनगर में दरोगा मधुप सिंह और बिजनौर में भी ड्यूटी पर तैनात एक सिपाही से खुद की कनपटी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली है.

एएसआई ने अपने आवास पर पिस्टल से खुद को गोली मारी.ृ

मिली जानकारी के अनुसार एएसआई ने अपने आवास पर पिस्टल से खुद को गोली मारी. एएसआई मधुप सिंह बागपत के बलेनी थाने में एसएसआई के पद पर तैनात थे. इसकी सूचना मिलने पर गाजियाबाद के एसएसपी मौके पर पहुंचे और मामले की जांच की जा रही है.

सिपाही ने रायफल से खुद को मारी गोली

वहीं कलैक्‍ट्रेट पर तैनात सिपाही ने सरकारी रायफल से कनपटी पर गोली मार ली. इलाज के दौरान सिपाही की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि सिपाही अंकुर राणा बागपत का रहने वाला था और ड्यूटी को लेकर तनाव में था. प्रारंभिक जांच में सामने आया कि का पत्नी से मनमुटाव चल रहा था फरवरी में उसकी शादी हुई थी। परिवार के लोगों को सूचना दे दी गई है। अब परिजनों के आने के बाद ही सही कारण स्पष्ट हो पाएगी।

दो दिन पहले ही घर से गया था अंकुर

अंकुर राणा 2016 में पुलिस में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हुआ था। गत 14 अगस्त को घर से ड्यूटी पर गया था। 6 महीने पहले ही सिपाही की शादी हुई थी। पत्नी अधिकांश बीमार रहती है  जिसका पेट का ऑपरेशन हुआ था. सिपाही की पत्नी फिलहाल बसी गांव में अपने मायके में है। ग्राम प्रधान पुत्र निश्चय राणा ने बताया कि पत्नी की बीमारी को लेकर ही अंकुर तनाव में रहता था। घटना से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। परिवार के लोग घटना की जानकारी मिलते ही बिजनौर के लिए रवाना हो गए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here