काले धन के कारोबारियों को एक और बड़ी चोट

बंगला

डेस्क- नोटबंदी के बोल्ड फैसले के बाद सरकार काले धन पर जबरदस्त चोट करने की तैयारी में है। इसके लिए व्यापक स्तर पर कार्रवाई शुरू की गई है। इसमें बेनामी संपत्तियों और महंगी प्रॉपर्टी पर खास नजर है और जांच शुरू कर दी गई है। काले धन के खिलाफ इस बड़ी कार्रवाई के तहत देश के सभी प्रमुख शहरों के हाईवे के पास की जमीनों की जांच शुरू की गई है। इसके अलावा देश के प्रमुख शहरों के वीआईपी इलाको में मौजूद जायदादों की जांच भी की जा रही है। प्रमुख औद्योगिक प्लॉटों और कॉमर्शियल फ्लैटों, दुकानों की जांच की जा रही है। साथ ही जांच एजेंसियां काले धन का पता लगाने के लिए दुकाने, प्लॉट, बड़े बंगले और औद्योगिक प्लॉट, की रजिस्ट्री खंगाल रही है। जांच के दौरान पता चला है कि लुटियन जोन में भी कुछ बंगलों का वास्तविक मालिक कोई और है। आयकर विभाग और अन्य विभागों की मदद से इन सब प्रॉपर्टीज का वेरीफिकेशन किया जा रहा है। दो सौ से ज्यादा टीमें इन जगहों का सत्यापन कर रही हैं। तथ्य जुटाने के बाद इन मामलों में दोषी पाए जाने पर बेनामी ट्रांजेक्शन एक्ट 2016 के तहत कार्रवाई होगी। ये एक्ट एक नवबंर से लागू किया जा चुका है। इसके तहत बेनामी संपत्ति जब्द की जा सकती है। जिसमें सात साल की सज़ा का प्रावधान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here