अंकिता हत्याकांड बढ़ा सकता है भाजपा विधायक की मुश्किलें

ankita-1

पौड़ी जिले के यमकेश्वर से भाजपा विधायक रेणू बिष्ट बड़ी मुश्किल में फंस सकती हैं। रेणू बिष्ट के खिलाफ कोर्ट में याचिका डाली गई है। रेणू बिष्ट पर अंकिता हत्याकांड से जुड़े सबूतों को नष्ट करने का आरोप है।

कोर्ट में डाली गई एक याचिका के मुताबिक घटना के पता चलने के बाद विधायक रेणू बिष्ट बुलडोजर लेकर पुलकित आर्या के वनंतरा रिजार्ट पहुंचीं, और उन्होंने अपने सामने रिजार्ट का बड़ा हिस्सा गिरवा दिया साथ ही वो कमरा भी ध्वस्त कर दिया गया जिसमें अंकिता रहती थी। याचिकाकर्ता की माने तो रेणू बिष्ट ने कई सबूतों को नष्ट करवा दिया। याचिकाकर्ता ने कोर्ट को बताया है कि भाजपा विधायक रेणू बिष्ट इस दौरान वहां खड़ी थीं और उनके कहने पर ही बुलडोजर चलाया जा रहा था। रेणू बिष्ट ने इस घटना का एक फेसबुक लाइव भी किया था।

उधर कोर्ट ने मामले की जांच कर रही टीम से केस डायरी के साथ स्थिति रिपोर्ट भी मांगी। न्यायमूर्ति ने याचिकाकर्ता आशुतोष नेगी पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया है। मामले की अगली सुनवाई तीन नवंबर को तय की गई है। याचिकाकर्ता ने कहा कि विधायक के निर्देश पर एक बुलडोजर ने रिसॉर्ट के कुछ हिस्सों को नष्ट कर दिया। कार्रवाई के परिणाम स्वरूप महत्वपूर्ण फोरेंसिक साक्ष्य के साथ छेड़छाड़ की गई। याचिकाकर्ता ने कहा की वे एसआईटी की जांच से संतुष्ट नहीं हैं। इसलिए उन्होंने कोर्ट से मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो को स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है।

आपको बता दें पौड़ी की रहने वाली अंकिता की हत्या कर दी गई थी। हत्या के आरोपी में बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्या को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया था। राज्य के साथ ही पूरे देश में अंकिता हत्याकांड सुर्खियों में बना रहा। राज्य सरकार को इस हत्याकांड के बाद लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ा था। मामले की जांच के लिए सरकार ने एसआईटी का गठन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here