देहरादून की ठंड में सियासी अलाव जला गए अमित शाह, त्रिशक्ति सम्मेलन में गरजे

देहरादून। शनिवार की दोपहर देहरादून के परेड ग्राउंड में अमित शाह ने अपने तरकश से जमकर सियासी तीर चलाए। ठंड के मौसम में अमित शाह सियासी अलाव जलाकर अपने 10 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनावों की गर्माहट का एहसास दिला गए। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने त्रिशक्ति सम्मेलन के जरिए बीजेपी के कार्यकर्ताओं में जोश भरने की भरसक कोशिश की। अपने तय समय से देर से परेड ग्राउंड में बने विशाल पंडाल में पहुंचे अमित शाह ने अपने लगभग एक घंटे लंबे संबोधन का बड़ा हिस्सा मोदी सरकार के अंतरिम बजट पर ही केंद्रित रखा। अपने संबोधन में अमित शाह ने पंडाल में मौजूद बीजेपी के बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से फिर एक बार पांचो लोकसभा सीटें जीतने के लिए जुट जाने का आह्वाहन किया।

अमित शाह ने अपने संबोधन में केंद्रीय बजट की खूबियां गिनाईं। किसानों को मोदी सरकार के द्वारा दिया छह हजार रुपए सालाना दिए जाने का ऐलान को अमित शाह ने ऐतिहासिक बताया। अमित शाह ने दावा किया कि इस योजना से 12 करोड़ किसानों को फाएदा होगा। वन रैंक वन पेंशन के बहाने अमित शाह ने कांग्रेस को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में OROP का मतलब होता है ONLY RAHUL, ONLY PRIYANKA. अमित शाह ने वन रैंक वन पेंशन को लागू करना मोदी सरकार की उपलब्धि करार दिया। वहीं देश के रक्षा बजट को बढ़ाने के साथ ही अटल आयुष्मान योजना, सौभाग्य योजना, उज्जवला जैसी योजनाओं को अमित शाह अपने कार्यकर्ताओं को याद दिलाना नहीं भूले।

अमित शाह ने अपने संबोधन मेंं दावा किया कि बीजेपी अयोध्या में राम जन्म भूमि पर भव्य राम मंदिर का निर्माण चाहती है। अमित शाह ने राहुल गांधी से पूछा कि उन्हें साफ करना चाहिए कि वो क्या चाहते हैं। अमित शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस राम मंदिर के निर्माण में रोड़ा अटका रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here