गजब : जयपुर में आलू-प्याज बेच रहा था रुड़की का शमशाद, पुलिस उठा लाई

रुड़की : उत्तराखड में अपराधी हत्या, चोरी,लूट, धोखाधड़ी कर बाहरी राज्यों में अपना डेरा जमा रहे हैं और पुलिस से बचकर सुकून की जिंदगी जी रहे हैं लेकिन चाहे कुछ भी हो कई सालों बाद आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ ही गए हैं. ताजा मामला रुड़की का है जहां सस्ती ईंट बेचने का झांसा देकर भवन निर्माण सामग्री विक्रेताओं से लाखों रुपये की धोखाधड़ी करने वाले आरोपित को पुलिस ने जयपुर से गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें कि मामला बीते साल अक्टूबर का है, कोतवाली रुड़की के ढंडेरा निवासी निवासी राजवीर सिंह ने बीते अक्टूबर में तहरीर देकर पुलिस को बताया था कि शिवमंदिर वाली गली, ढंडेरा फाटक में रहने वाले शमशाद ने खुद को ईंटों का सप्लायर बताकर सस्ते में ईंट दिलाने की बात कही। इसके लिए उन्होंने शमशाद को 28.50 लाख रुपये दिये। लेकिन शमशाद ईंट देने के बजाय अपने दो साथियों के साथ फरार हो गया। इससे उनके पसीने छूट गए। उन्होंने उसकी काफीतलाश की लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला।

इसके बाद वो पुलिस के पास पहुंचा और शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने शमशाद व उसके दो साथियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया। तभी से पुलिस आरोपित की तलाश में जुटी हुई थी। कोतवाली रुड़की के एसएसआइ दीप कुमार ने बताया कि कांस्टेबल गुलशन और नितिन के साथ जयपुर में दबिश दी गई। इस दौरान आरोपी जयपुर की सब्जी मंडी में आलू प्याज बेचता मिला। पुलिस को देख वो भागने लगा लेकिन उसे दबोच लिया। अब आरोपित सलाखों के पीछे भेज दिया गया है।

जानकारी मिली है कि आरोपी मूल रूप से गांव सठेडी रतनपुरी मुजफ्फरनगर का रहने वाला है। रुड़की में उसने धोखाधड़ी की और जयपुर में जाकर चैन की नींच सोने लगा लेकिन उसे क्या पता था कि पुलिस उसे दबोच ही लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here