भारत में कोरोना को लेकर AIIMS के पूर्व डायरेक्टर ने दी ये सलाह

कोरोना के फिर से लौटने के संकेत मिल रहे हैं। केंद्र सरकार ने लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। इस बीच AIIMS के पूर्व निदेशक डॉ आर गुलेरिया ने कहा है कि सर्दी में वायरल इंफेक्शन बढ़ जाता है। बेहतर देखभाल की जरूरत है। विशेष रूप से उच्च जोखिम वाले समूहों के लिए खुद को बचाने और बूस्टर खुराक लेने के लेना जरुरी है।

डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि चीन की तुलना में भारत की स्थिति काफी बेहतर है क्योंकि हमारी टीकाकरण रणनीति बहुत सफल रही है, उच्च जोखिम वाले समूह के अधिकांश लोगों ने बूस्टर खुराक ली है और प्राकृतिक संक्रमण हुआ है। हम देख सकते हैं कि कहीं मामले नहीं बढ़ रहे हैं। लेकिन हमें सतर्क रहने की जरूरत है। उचित निगरानी की आवश्यकता है ताकि अगर कहीं भी मामले बढ़ते हैं तो हम इसे जल्द से जल्द उठाएं और परीक्षण करें ताकि यह देखा जा सके कि कोई नया वैरिएंट नहीं आ रहा है और आगे नहीं फैल रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने की बैठक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने देश में कोरोना की स्थिति पर स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ आज बैठक की। बैठक के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि कुछ देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर आज विशेषज्ञों और अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। COVID अभी खत्म नहीं हुआ है। मैंने सभी संबंधितों को सतर्क रहने और निगरानी मजबूत करने का निर्देश दिया है। हम किसी भी स्थिति का प्रबंधन करने के लिए तैयार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here