खबर उत्तराखंड की खबर के बाद जागा प्रशासन, मौके पर पहुंचे SDM, ये पूरा मामला

 

बड़कोट : खबर उत्तराखंड की खबर का बड़ा असर हुआ है। नौगांव-राजगढ़ी रोड़ पर 10 किलोमीटर एरिया में सड़क की बदहाल स्थिति को सुधारने के लिए डामरीकरण किया जा रहा है, लेकिन इसमें गुणत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा था। जिसको लेकर स्थानीय लोगों ने विरोध किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए आज बड़कोट एसडीएम ने मार्ग पर हो रही घटिया डामरीकरण का निरीक्षण किया। उससे पहले निर्माण एजेंसी ने गडोली बैंड पर फिर से डामरीकरण करने के बजाय एक बार किए गए डामरीकरण के ऊपर ही कोलतार डालने के बाद चूने का छिड़काव कर दिया, जिसका लोगों ने फिर से विरोध किया, लेकिन डीएम के कहने के बाद भी काम में सुधार नहीं लाया गया।

दरअसल, उत्तरकाशी जिले की सबसे पुरानी सड़कों में से एक नौगांव-पौंटी-गडोली-राजगढ़ी मोटर मार्ग पर 10 किलोमीटर के एरिया में डामरीकरण का कार्य चल रहा है। मोटर मार्ग पर 1 करोड़ 43 लाख की लागत से दस किलोमीटर के दायरे में लोक निर्माण विभाग बड़कोट के डामरीकरण करवा रहा है। ठकराल, बनाल पट्टी लाइफ लाइन पर विभाग और ठेकेदार सिंगल परत का डामरीकरण करके करोड़ों ठिकाने लगाने की फिराक में हैं।

स्थानीय ग्रामीण राकेश नौटियाल, पूरण चंद, प्रवीन कुमार, जयदेव पंवार सहित दर्जनों लोगों ने सम्बंधित विभाग से मांग की है कि यदि डामरीकरण के कार्य की गुणवत्ता में सुधार नहीं किया गया तो क्षेत्रीय लोग विभाग के कार्यालय में जाकर धरना प्रदर्शन करेंगे। राज्य दिव्यांग बोर्ड के सदस्य सुरेंद्र रावत ने मामले में एसडीएम और डीएम से जांच कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि इस तरह से घटिया निर्माण नहीं होने दिया जाएगा। अगर गंभीरता से जांच नहीं की गई, तो इसके लिए क्षेत्रीय जनता आंदोलन करने को मजबूर होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here