आखिर क्यों छात्र-छात्राओं ने कॉलेज में जड़ा ताला, लगाए मुर्दाबाद के नारे

रुड़की- शहर के कन्हैया लाल डिग्री कॉलेज में आज उस समय हंगामा हो गया जब आज सुबह कॉलेज में पेपर देने पहुंचे B.sc और M.sc के छात्र-छात्राओं को न तो परीक्षा कक्ष में बैठने दिया गया यहां तक की उन्हें परीक्षा कक्ष में जाने तक नहीं दिया. जिससे नाराज छात्रों ने कॉलेज के मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया साथ ही कॉलेज प्रबंधन व प्रधानाचार्य पर मनमानी का आरोप लगाते हुए मुर्दाबाद के नारे लगाए.

वहीं परीक्षा का बहिष्कार करते हुए छात्र-छात्राओं ने बात नहीं मानी जाने तब परीक्षा नही देगे.. छात्रों का ये भी कहना कि की कॉलेज प्रशासन अपनी मनमानी के चलते उनके भविष्य से खिलवाड़ करने पर उतारू है.. जिसके चलते हम बच्चों का भविष्य भी खतरे में है..

वहीं कॉलेज प्रधानाचार्य से जब इस बारे में जानकारी ली गयी, तो उनका इस मामले में अलग ही कहना था, उनका कहना है कि ये आदेश उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री और उत्तराखंड शासन ने पूरे उत्तराखंड के लिए जारी किया है. जिसमे साफ तौर पर कहा गया है कि जिस भी बच्चे की कॉलेज में उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम होगी, उसको परीक्षा में नही बैठने दिया जाएगा.. लेकिल कॉलेज की कोर कमेटी ने मीटिंग रखी जिसमें ये तय किया गया कि सरकार द्वारा दिये गए समय को कॉलेज में थोड़ा बढ़ाया जाए जिसके बाद ये समय एक महीने के लिए बढ़ाया गया.

नय मानक में तय हुआ किसी भी छात्र की 75 प्रतिशत उपस्थिति उस एक माह में आई हुई ही मानी जायेगी. लेकिल बावजूद इसके कई बच्चे कक्षाओं में नहीं आए तो कॉलेज प्रशासन को बच्चों के खिलाफ ये कठोर कदम उठाना पड़ा.

प्रधानाचार्य का ये भी कहना है कि अभी बच्चों से बात चल रही है अगर बच्चों के हित के लिए कोई और उपाय भी होगा तो उस पर भी कॉलेज कमेटी विचार करेगी और जल्द ही जिन बच्चों ने आज परीक्षा नहीं दी है उनके लिए जल्द ही नई तारीख तय करने के बाद इन बच्चों को परीक्षा दिलाने का प्रयास किया जाएगा ताकि किसी भी बच्चे का भविष्य न खराब हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here