आखिर उत्तराखंड में कितने फर्जी टीचर, एक और बर्खास्त

 

अल्मोड़ा : शिभा विभाग में फर्जी दास्तावेजों के आधार पर नौकरी हासिल करने के कई मामले सामने आ चुके हैं। इन मामलों की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है। एसआईटी की जांच में कई फर्जी शिक्षकों को पकड़ा जा चुका है और सिलसिला अब भी जारी है। कई लोगों को नौकरी से बर्खास्त किया जा चुका है।

अल्मोड़ा जिले के ताड़ीखेत ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय मनारी में तैनात शिक्षामित्र की मार्कशीट फर्जी निकली है। तीन चरणों की पड़ताल के बाद अंतिम जांच में खुलासा होने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने उप शिक्षाधिकारी को उसे बर्खास्त करने के साथ ही धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिए हैं।

मामले विभागीय स्तर से भी कार्यवाही के लिए रिपोर्ट शिक्षा निदेशालय को भेज दी गई है। बीते दिनों ताड़ीखेत ब्लाक के राजकीय प्राथमिक विद्यालय मनारी का मामला पकड़ में आया था। मामले में प्रथम दृष्टया विभागीय जांच में वहां तैनात शिक्षामित्र की अंकतालिका फर्जी मिली थी। मूल प्रमाणपत्रों के साथ जिला मुख्यालय तलब किया गये, तब उसने मूल अंकतालिका व अन्य प्रमाणपत्र गायब होने का हवाला दिया। इधर शिक्षा मित्र के प्रमाण पत्रों की पुनरू जांच की गई। इसमें 12वीं का अंकपत्र अवैध पाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here