दस हजार पेड़ों के कटान की बुनियाद पर एयरपोर्ट का विस्तारीकरण मंजूर नहीं: आप

देहरादून में जौली ग्रांट विस्तारीकरण के नाम पर दस हजार पेड़ों के कटान पर कई संघठन के साथ आम आदमी पार्टी भी सड़कों पर उतर कर विरोध करेगी। विस्तारीकरण के नाम पर पेड़ों के कटान पर आप प्रवक्ता नवीन पीर्साली ने एक बयान जारी किया।

उन्होंने बताया कि सरकार देहरादून एयरपोर्ट को हाईटेक बनाने के नाम पर एयरपोर्ट के पास ही सटे थानों के जंगल में लगे दस हजार पेड़ों का कटान कराना चाहती है जिसका पर्यावरण पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा। इसकी जद में कई जंगली जानवर आएंगे जिनका अस्तित्व संकट में आ जाएगा। आप प्रवक्ता ने कहा कि इस जंगल में जहां खैर, शीशम, सागोन और कई प्रजातियों के पेड़ हैं तो दूसरी ओर हाथी, गुलदार, चीतल, सांभर जैसे जानवर भी मौजूद हैं । इन पेड़ों के कटान का फर्क यहां रहने वाले जानवरों पर भी पड़ेगा जिससे ये खूंखार जानवर पास की बस्तियों का रुख कर सकते हैं और जनहानि की आशंका बढ़ेगी। जहां कई संगठन सड़कों पर उतर कर इसका खुलेआम विरोध कर रहे हैं और रैली निकालकर अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं वहीं आप कार्यकर्ता भी सड़कों पर उतर कर इसका पुरजोर विरोध करेंगे।

आप प्रवक्ता ने कहा ऑल वेदर रोड के नाम पर भी हजारों पेड़ों की बलि दी जा चुकी है और अगर ऐसे ही हरे-भरे पेड़ों का कटान किया जाएगा तो पर्यावरण पर इसका बेहद गंभीर असर पड़ेगा। उत्तराखंड की सुंदरता के स्तंभ ये हरे भरे पेड ही पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते अगर सरकार ऐसे ही लगातार पेड़ों के कटान करती रहेगी तो इसका सीधा असर पर्यटन पर पड़ेगा और पर्यटन से जुड़े लोगों को आर्थिक संकट झेलना पड़ेगा।

आप पार्टी विकास की बात करने वाली पार्टी है और हमारी विचारधारा सिर्फ और सिर्फ विकास की है। लेकिन हजारों पेड़ों की बलि देने के बाद अगर विकास किया जाए तो पार्टी इसका पूर्ण रूप से विरोध करती है और यह मांग करती है कि सरकार फौरन अपना यह फैसला वापस ले और दूसरे विकल्प पर सोचे , क्योंकि अगर सरकार ऐसा नहीं करती तो सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here