AAP का हमला, बोले-सीएम को भूलने की आदत, छिन रही गरीब की एक वक्त की रोटी

देहरादून : सरकार ने रोड टैक्स में राहत की घोषणा कर वाहन चालकों को खुश करने की कोशिश तो जरूर की लेकिन घोषणा के इतने दिनों बाद अभी तक नोटिफिकेशन जारी नहीं किया, जिससे सवारी वाहनों के  चालकों को और  वाहन स्वामियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आप अध्यक्ष  ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि सरकार ने एक तरफ टैक्स में छूट की घोषणा करके सवारी वाहन चालकों को आस बंधा रखी है। वहीं दूसरी ओर नोटिफिकेशन जारी न करके चालकों को अधर में लटका दिया है, जिससे आए दिन चालकों का चालान कट रहा है और उनके दिलों में सड़कों पर चलने का भय भी है कहीं चालान ना कट जाए।

गौरतलब है 15 सितंबर की कैबिनेट बैठक में सरकार ने सवारी वाहनों को 6 माह सितंबर तक टैक्स में राहत देने की घोषणा तो जरूर की थी लेकिन इसका अभी तक नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है, यहां तक विभाग की वेबसाइट में भी इसको लेकर अपडेट नहीं है। नोटिफिकेशन जारी नहीं होने से परिवहन विभाग की टैक्स जमा करने की वेबसाइट पर सवारी गाड़ियों को जुलाई से टैक्स समय से नहीं भरने पर पेनल्टी अनिवार्य दिखा रहा है, जिससे सवारी वाहन चालक असमंजस की स्थिति में फंसे हुए हैं, आप अध्यक्ष का कहना है कि प्रदेश सरकार घोषणाओं को करने के बाद उनको पूरा करना भूल जाती है, जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ता है।

त्रिवेंद्र सरकार को इस बात का ख्याल रखने की जरूरत है कि उनकी इस भूलने की आदत से एक गरीब की एक वक़्त की रोटी छिन रही है और डर अलग से लग रहा कहीं सड़क पर चलने से चालान ना कट जाए। यही नहीं आप अध्यक्ष ने कहा कि लॉक डाउन के कारण टैक्स भरने के लिए  जब कमाई नहीं हुई तो रुपए कहां से आएंगे, फिर एडजेस्ट कैसे होगा. इसका खामियाजा कई टैक्सी चालक भुगत चुके हैं। टैक्स नहीं भरने से सड़क पर गाड़ी दौड़ाने पर इनका चालान हो चुका है, लेकिन सरकार अभी भी इस और कोई भी ध्यान नहीं दे रही है ।आप का कहना है प्रदेश सरकार को घोषणाओं को करने के बाद जल्द ही अमल में लाने की जरूरत है इससे सवारी वाहन चालकों को राहत मिलेगी और साथ ही लॉकडाउन के दौरान उन्हें जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई हो सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here