उत्तराखंड। SDM बोले, ‘इतना मारूंगा साले, ठीक हो जाएगा’, कांग्रेस पदाधिकारी से हुआ पंगा

SDM AKASH JOSHIउत्तराखंड के पौड़ी जिले में अग्निवीर भर्ती योजना के तहत भर्ती शुरू हो गई है। इस भर्ती के लिए युवाओं को अलग अलग तरह से प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने पड़ रहें हैं। इन प्रमाण पत्रों की वैधता को लेकर हंगामा हो गया। इसी दौरान पौड़ी के एसडीएम आकाश जोशी और कांग्रेस नेता नितिन बिष्ट के बीच तीखी बहस शुरु हो गई। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

नितिन बिष्ट अभ्यर्थियों की तरफ से प्रशासन से बात कर रहे थे। इसी बीच एसडीएम और नितिन के बीच हो रही बातचीत गर्मागर्म बहस में बदली। एसडीएम को नितिन पर गुस्सा आ गया। एसडीएम ने नितिन पर युवाओं को भड़काने का आरोप लगाया और उसे गर्दन से पकड़ने की कोशिश करने लगे। इसी बीच नितिन ने अपनी गर्दन छुड़ा ली। इस बात से नाराज एसडीएम ने नितिन को थप्पड़ दिखाते हुए कहा, ‘इतना मारुंगा साले कि ठीक हो जाएगा’…..ये पूरी घटना मोबाइल कैमरों में रिकॉर्ड हो गई।

नितिन बिष्ट जब इसके बाद भी नहीं माने तो एसडीएम ने नितिन को अपने साथ आए कर्मचारियों की मदद से वहां से हटा दिया और पुलिस को सुपुर्द कर दिया। नितिन के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने की एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

बड़ी खबर। UKSSSC पेपर लीक में एक और गिरफ्तारी

वहीं इस मसले पर कांग्रेस नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस नेता हरीश रावत ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि, अग्निवीर भर्ती के दौरान एक नौजवान ने कुछ सवाल उठाये। क्योंकि अग्निवीर प्रमाण पत्रों को लेकर परेशान थे, भोजन की व्यवस्था नहीं थी और जब किसी नौजवान ने ये बातें प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से जो वहां उपस्थित थे उनसे कही, तो उसके साथ जो व्यवहार हुआ है और व्यवहार के बाद युवक नितिन बिष्ट पर सरकारी कामकाज में बाधा डालने की FIR का दर्ज करना, इस सरकार के अमानवीय चेहरे को दर्शाने के लिए काफी है। इस चेहरे को देखें और इस पर अपनी राय जरूर जाहिर करें।

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा- उत्तराखंड का युवा क्या सिर्फ डीएम और एसडीएम के हाथों जलील और अपमानित होने के लिए बना है? अग्निवीर भर्तियों में युवाओं को प्रमाण पत्र के नाम पर प्रताड़ित करने के विरोध करने पर SDM पौड़ी द्वारा महासचिव युवा कांग्रेस नितिन बिष्ट से अभद्रता गाली गलौच की गई, मुख्यमंत्री धामी इसका संज्ञान लें।

वहीं एक न्यूज वेबसाईट ने एसडीएम पौड़ी का पक्ष छापते हुए उनके हवाले से लिखा- यह किसी पार्टी के युवा एक नेता हैं, और यह वहां अग्निवीर योजना का विरोध करने आए थे, इसी दौरान वो युवाओं को भड़काने लगे, मामला रात आठ बजे का है, यह देखकर यह लगातार युवाओं को भड़का रहे हैं तो मैंने कोशिश की की उन्हें वहां से अलग ले जाया जाए लेकिन युवा मानने को तैयार नहीं था और नतीजा ये रहा, जब्कि उनके वहां पर आने से पहले हमने कई हजार युवाओं को सर्टीफिकेट बांट भी दिए थे।  पूर्व में ही इनके द्वारा इसी तरह की हरकते की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here