उत्तराखंड में बर्फबारी का कहर, 950 गांवों में बिजली-पानी गुल

देहरादूनः उत्तराखंड में बर्फबारी से जनजीवन बेहद प्रभावित हुआ है। लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। राज्य के 900 से अधिक गांवों में बिजली-पानी की आपूर्ति ठप है। करीब 40-45 लोग फिसलन के चलते गिरकर घायल हो गए हैं। छह जनवरी को शुरू हुई बर्फबारी 10 तक जारी रही। आठ जनवरी को सबसे अधिक 32.2 मिमी बर्फबारी हुई, जिसने राज्य को बहुत ज्यादा प्रभावित किया।

450 से अधिक गांवों में पेयजल का संकट बना हुआ है। अधिकांश गांवों में लोग बर्फ पिघलाकर पानी पी रहे हैं। औली में बर्फबारी के बाद जोशीमठ-औली मार्ग बंद है। 20 से अधिक पर्यटक वाहन लौट नहीं पा रहे हैं। ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर लामबगड़ में लगातार पहाड़ी से पत्थर बरस रहे हैं।

कुमाऊं मंडल के नैनीताल, बागेश्वर और अल्मोड़ा के दूरदराज इलाकों में बारिश से परेशानी बढ़ी है। नई टिहरी में अलग-अलग इलाकों में 32 लोग घायल हो चुके हैं। उत्तरकाशी में दो छात्रों के घायल होने की सूचना है। प्रभावित इलाकों में प्रशासन रास्तों पर चूना व मिट्टी डलवाकर सुरक्षित आवाजाही कराने के प्रयास में जुटा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here