उत्तराखंड से बड़ी खबर : MBBS के बाद 2 साल के डिप्लोमा कोर्स को अनुमति, ये होंगे फायदे

 

देहरादून : उत्तराखंड में सरकार ने मेडिकल शिक्षा में बड़ा फैसला लिया है। मेडिकल एजुकेशन की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने अहम फैसला लिया है। सरकार ने श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में 5 विषयों पर पोस्ट एमबीबीएस कोर्स की मंजूरी दे दी है, जिससे पहाड़ में मेडिकल की पढ़ाई करने के इच्छुक बच्चों को बाहरी राज्यों की ओर रुख करने की जरुरत नही है। एमबीबीएस की कोर्स की मंजूरी के बाद अब पहाड़ के युवक-युवती उत्तराखंड में ही एमबीबीएस का कोर्स कर पाएंगे और डॉक्टर बन सकेंगे।  इससे हजारों छात्रों को लाभ होगा।

स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि राजकीय मेडिकल काॅलेज श्रीनगर में दो वर्षीय एमबीबीएस डिप्लोमा कोर्स करने के अनुमति दी गई है। डिप्लोमा कोर्स एनसथीशिया, ग्यानाकोलाॅजी, रेडियोलाॅजी, पीडियाट्रिक, नैत्र विज्ञान, ईएनटी और फैमिली मेडिसन में कराए जाएंगे।

इससे पहाड़ के बच्चों को मेडिकल की पढ़ाई के लिए दूसरे राज्यों में नहीं जाना पड़ेगा और युवाओं का डॉक्टर बनने का सपना पहाड़ में ही पूरा हो सकेगा। साथ ही पहाड़ के अस्पतालों में भी स्वास्थ्य सेवाएं और बेहतर हो सकेगी। आपको बता दें कि सचिव स्वास्थ्य अमित सिंह नेगी ने आदेश जारी कर दिये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here