कहीं ये कोशिश सचिन के खिलाफ तो नहीं ?

sachin and arjunसंवाददाता। पिछले दिनों सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर मीडिया में छाये रहे. चर्चा थी वेस्‍ट जोन अंडर-16 टीम में उनका चुनाव. दरअसल हुबली में 24 मई से चल रहे अंतर क्षेत्रीय अंडर-16 टूर्नामेंट में पश्चिम क्षेत्र से अर्जुन तेंदुलकर को टीम में शामिल किया गया, जबकी उसके साथ खेल रहे प्रणव धनावड़े को टीम से बाहर रखा गया. इसी बात को लेकर सोशल मीडिया में हंगामा शुरू हो गया. लोगों ने हंगामा किया कि अर्जुन तेंदुलकर का चयन इस लिए किया गया क्‍योंकि वो क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के बेटे हैं और ओर प्रणव धनावड़े एक साधारण परिवार का रहने वाला है इसलिए उसकी अनदेखी की गयी. सोशल मीडिया में अर्जुन के चयन पर हंगामा करने वालों ने प्रत्‍यक्ष तो नहीं लेकिन परोक्ष रूप से सचिन तेंदुलकर के उपर आरोप लगाया है.

इस मामले में प्रणव धनावड़े और उनके पिता का भी बयान आ चुका है. उन्‍होंने ने भी माना कि मामले को पूरी से जाने बिना लोगों ने बेवजह सोशल मीडिया में हंगामा शुरू कर दिया. प्रणव के पिता प्रशांत धनावड़े ने अपने बयान में कहा कि अर्जुन का चुनाव नियम के तहत हुआ है.
इधर मीडिया में अर्जुन तेंदुलकर और सचिन तेंदुलकर की बेवजह खिचाई होने के बाद खुद प्रणव धनावड़े ने अपना बयान दिया. उन्‍होंने कहा, अर्जुन का चयन उनके टैलेंट और प्रदर्शन के आधार पर किया गया है, इसमें कुछ भी गलत नहीं है. उन्‍होंने बताया कि वेस्‍ट जोन की टीम का चयन मुंबई और स्‍टेट के मैच में प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है. प्रणव ने बताया कि उनका स्‍टेट के मैचों में प्रदर्शन अच्‍छा नहीं था और उन्‍होंने जो वर्ल्‍ड रिकार्ड बनाये हैं उससे पहले ही वेस्‍ट जोन की टीम का चयन हो चुका था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here