घर से बिना बताए घूमने निकले थे 6 दोस्त, गंगनहर में समाई कार, 4 का अब तक नहीं चला पता

देहरादून: मेरठ-दिल्ली कांवड़ पटरी मार्ग पर शनिवार को हुए कार हादसे में लापता चारों युवक-युवतियों को अब तक कुछ पता नहीं चल पाया है। कार मुरादनगर में डिडौली पुल के पास गंगनहर में गिर गई थी। उसमें 6 छात्र-छात्राएं सवार थे, जो नहर में डूब गए। कार सवार दो छात्रों ने तैरकर जान बचा ली। जबकि अन्य चार को निकाला नहीं जा सका। रेस्क्सू अभियान जारी है। बावजूद उनका पता नहीं चल पाया है। चारों के घरों में सन्नाटा पसरा हुआ है। मामले को लेकर जो एक जानकारी और सामने आई है, वो यह है कि किसी ने भी घूमने जाने के बात अपने घर नहीं बताई थी।

पुलिस और एनडीआरएफ मौके पर लगातार सर्च आॅप्रेशन चला रहे हैं। डूबे छात्रों की तलाश की जा रही है। लेकिन, उनका कोई सुराग नहीं लग सका। सभी छात्र-छात्राएं एक्सयूवी महिंद्रा 500 कार में सवार होकर देहरादून से दिल्ली और फिर मथुरा घूमने के लिए निकले थे। इनमें से दो छात्र जिन्हें तैरना आता था वे सुरक्षित बच गए, जबकि बाकी दो छात्र और दो छात्राओं की तलाश जारी है। निशांत चैधरी गाड़ी चला रहा था। निशांत कृषि विभाग में नौकरी करता है। सृष्टि जोशी और कनिका बिंदल उत्तरांचल यूनिवर्सिटी देहरादून की छात्राएं हैं। अनमोल देशवाल और हर्षित 12वीं के छात्र हैं जो मुजफ्फरनगर में पढ़ते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here