बागेश्‍वर में 2 नाबालि‍कों का अपहरण, फोन कर मांगी 2 लाख की फिरौती, 4 गिरफ्तार

बागेश्‍वर : पहाड़ के शांत वादियों को नाजाने किसकी नजर लग गई है। पहाड़ी जिलों से भी अब बड़े-बड़े अपराधों के मामले सामने आने लगे हैं। पहाड़ों से अक्सर दुष्कर्म, हत्या और अपरहण के मामले सुनकर लोग भी हैरान हैं कि आखिर पहाड़ की शांत वादियों को किसकी नजर लग गई। बीते दिन बागेश्वर में हुई घटना के बाद हर कोई स्तब्ध है।

बागेश्वर में दो नाबालिक बच्‍चों का अपहरण

जी हां बता दें कि बीते दिन बागेश्वर में दो नाबालिक बच्‍चों का अपहरण हो गया था। इस सूचना से पुलिस-प्रशासन में हड़कंप मच गया था। आनन-फानन में कपकोट पुलिस ने सभी थानों को अलर्ट जारी कर दिया। एसओजी टीम के अलावा एक अन्य टीम भी गठित की गई। बीती रात करीब साढ़े दस बजे अल्मोड़ा और बागेश्वर की एसओजी टीम ने अपहरणकर्ताओं को खैरना के समीप गिरफ्तार कर लिया है।वहीं अभी एक आरोपी फरार है जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। पहाड़ से अपरहण का मामला सामने आने के बाद सनसनी फैल गई है।

16 और 13 साल के नाबालिग का अपहरण

आपको बता दें कि सूपी, पतियार निवासी 16 वर्षीय देवेंद्र सिंह और उसके साथी 13 वर्षीय कृष्णा सिंह बीते दिन बुधवार को कपकोट अस्तपाल गए थे। जो दवाइयां खरीदकर घर को लौट रहे थे। उन्हें कपकोट बाजार में 4 युवक मिले जिसमें एक युवक स्थानीय था जिसे वो पहचानते थे।

देवेंद्र और कृष्णा को उठा ले गए किडनैपर्स

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एक युवक पालड़ीछीना, कपकोट और दो अन्य रुद्रपुर के रहने वाले हैं जो की नशा तस्करी में लिप्त बताए जा रहे हैं। खबर है कि वह चारों युवक किसी गाड़ी का सौदा करने आए थे। शायद उनका काम नहीं बना, जिसके बाद वह देवेंद्र और कृष्णा उठाकर अपने साथ ले गए। रास्ते से उन्होंने देवेंद्र के नंबर से परिजनों को फोन किया और 2 लाख रुपये की फिरौती मांगी। जिस पर कृष्णा के परिजन परेशान हो गए। हर सिंह पुत्र मंगल सिंह ने थाने में तहरीर देकर अपरहण और फिरौती की सारी कहानी पुलिस को बताई।

कृष्णा के परिजनों ने गूगल पे में भेजे थे 82 हजार रुपये

जानकारी मिली है कि कृष्णा के परिजन दिल्ली रहते हैं। कृष्णा के परिजनों ने पहले उन्होंने अपहरणकर्ताओं के गूगल पे पर बीस हजार और फिर 62 हजार रुपये तक भेज दिए। तहरीर आने के बाद पुलिस सतर्क हो गई। सीओ बिपिन चंद्र पंत ने सभी थानों को अलर्ट जारी कर दिया। अल्मोड़ा के एसएसपी से भी मदद मांगी। अल्मोड़ा की एसओजी टीम सक्रिय हो गई। फोन नंबर सर्विलांस में लगाया गया और लोकेशन अल्मोड़ा और खैरना के मध्य मिली। सीओ ने बताया कि रात लगभग साढ़े दस बजे 4 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक आरोपी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है। पुलिस की संयुक्त टीम ने मामले का कुछ ही घंटों में खुलासा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here