उत्तराखंड : तीन बार खाई जेल की हवा लेकिन नहीं सुधरा, फिर चढ़ा पुलिस के हत्थे

बागेश्वर : मैदान से लेकर पहाड़ तक नशे का कारोबार फलफूल रहा है। अब तक कई तस्कर पहाड़ी जिलों में पकड़े गए हैं जिनके पास से भारी मात्रा में स्मैक बरामद हो रही है। प्रदेश भर की पुलिस नशे के खिलाफ अभियान चलाए है। इस अभियान में बागेश्वर की कोतवाली पुलिस को सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने दो युवकों को स्मैक की अवैध खेप के साथ गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार दैनिक ड्यूटी के दौरान पुलिस के उप निरीक्षक भूपेंद्र सिंह मेहता, आरक्षी अशोक पवार, संतोष राठौर, तारा भाकुनी और भुवन बोरा आने जाने वाले वाहनों की चेकिंग कर रहे थे । इसी बीच होटल बागनाथ से 10 मीटर आगे गरुड़ रोड पर उन्हें दो संदिग्ध व्यक्ति दिखाई दिए जो की पुलिस को देखकर भागने लगे। पुलिस का शक पक्का हो गया कि जरुर या तो दोनों कुछ गलत करके आए हैं या अवैध काम करने जा रहे हैं। पुलिस ने उनका पीछा किया।

पुलिस ने जब तलाशी ली तो उनके पास से 8.69 ग्राम स्मैक बरामद हुई। पूछताछ में एक युवक ने अपना नाम देवेंद्र क्षेत्रीय बताया जबकि दूसरे ने अपना नाम जीवन सिंह खेतवाल बताया। जानकारी मिली है कि तस्कर देवेंद्र देहरादून के रायपुर थाने के किद्दूवाला गांव का रहने वाला है। जबकि जीवन सिंह खेतवाल बागेश्वर के आरे गांव का रहने वाला है। देवेंद्र के पास से पुलिस ने 4.21 ग्राम और जीवन के पास से पुलिस ने 4.48 ग्राम स्मैक बरामद की है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जीवन खेतवाल इससे पहले भी एक नहीं दो नहीं बल्कि तीन बार जेल जा चुका है वो भी एनडीपीएस एक्ट मामले में जबकि देवेंद्र क्षेत्रीय एक बार जेल जा चुका है। जो की एक बार फिर से पुलिस की पकड़ में आए और सलाखों के पीछे भेजे गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here