उत्तराखंड पुलिस ने दी थी चेतावनी, सोशल मीडिया पर भड़काऊ कमेंट करना पड़ा महंगा

टिहरी: उत्तराखंड पुलिस ने सोशल मीडिया पर अफवाह, झूठी खबर फैलाने वालों के खिलाफ मोर्चा खोला है, जिस पर उचित कार्यवाही की जाएगी. एडीजी अशोक कुमार ने साफ तौर पर ऐसे लोगों को चेतावनी दी है जो सोशल मीडिया पर अफवाह औऱ भड़काउ पोस्ट डालते हैं.

वहीं सोशल मीडिया पर भड़काऊ कमेंट करना एक युवक को भारी पड़ गया. पुलिस की आईटी सेल ने युवक का लोकेशन ट्रेस कर उसे गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही पुलिस ने दावा किया है कि उन्होंने कई ऐसे लोगों को चिह्नित किया है, जो सोशल मीडिया के जरिए हिंसा भड़काने का काम करते हैं, उन पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी.

मुनिकीरेती प्रभारी आर के सजलानी ने बताया कि 27 अगस्त को कोतवाली नई टिहरी के राजाखेत में एक नाबालिग युवती के साथ हुए दुष्कर्म के प्रयास में बिजनोर के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था. जिसके बाद रजाखेत निवासी विक्रम नेगी ने इस घटना को अपने फेसबुक एकाउंट पर साझा किया. जिसके बाद उसके एक फेसबुक दोस्त ने कमेंट पर दूसरे समुदाय के लोगों को जान से मारने की अपील की थी.

इस कमेंट पर सोशल मीडिया निगरानी सेल सतर्क हो गया और ट्रैप करने लगा. लोकेशन ढालवाला में मिली. जिसके बाद आरोपी को शांति भंग की आशंका में गिरफ्तार कर लिया गया.

थाना मुनिकीरेती के पुलिस निरीक्षक आर के सकलानी ने बताया कि सोशल मीडिया सेल ने  कई लोगों को चिह्नित किया है, जो सोशल मीडिया का प्रयोग हिंसा भड़काने के लिए कर रहे हैं. जल्द ही उन सभी पर कार्रवाई की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here