उत्तराखंड : डीएम ने लिया क्षेत्र में फैल रहे दिमागी बुखार मामले का संज्ञान, अधिकारियों को दिए निर्देश

रूद्रपुर : जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने खटीमा क्षेत्र में फैल रहे दिमागी बुखार का संज्ञान लेते हुये सम्बन्धित अधिकारियों के साथ अपने कार्यालय कक्ष में बैठक लेकर दिये आवश्यक दिशा-निर्देश। उन्होने अधिकारी को आपस में ताल-मेल बनाकर कार्य करने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को खटीमा क्षेत्र व जिन क्षेत्रों में पहले भी दिमागी बुखार के लक्षण पाये गये थे। उन क्षेत्रों का भी डोर टू डोर सर्वे करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि 15 वर्ष तक के कोई भी बच्चा सर्वे के दौरान नही छूटना चाहिये। उन्होने कहा कि क्षेत्र में सतप्रतिशत टीकाकरण किया जाये। उन्होंने सीएमओ को एएनएम को प्लान के तहत जिम्मेदारी देने व मांनिटिंªग करने के भी निर्देश दिये। उन्होने कहा कि सम्बन्धित अधिकारी गम्भीरता से ले। उन्होने कहा जिस  अधिकारी के स्तर पर कार्यो में लापरवाही पायी जायेगी तो उसको प्रतिकूल प्रविष्टि की कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को प्रत्येक दिन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होने सीएमओ व जिला मलेरियो अधिकारी को क्षेत्र में मोबाईल वैन/आडियो/वीडियो व समाचार पत्रों के माध्यम से प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। उन्होने क्षेत्र में नगर निकायों व जिला पंचायत राज अधिकारी को समस्त क्षेत्र में फागिंग व कीटनाशक दवाईयों का छीडकाव व नालियों/झाडियों को तत्काल सफाई करने को निर्देश दिये। उन्होने एएनएम के कार्यो पर असन्तोष व्यक्त करते हुये सीएमओ को आवश्यक कार्यवाही करने को निर्देश दिये। उन्होंने डॉ. प्रिया को 15 वर्ष तक के बच्चे जिनका अभी तक टीकारण नहीं हुआ है उनका सर्वे करने के उपरांत प्रतिदिन रिपोर्ट प्रस्तुत करने को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अधिकारी इस तरह से कार्य करें कि किसी भी बीमारी से सीघ्र निजात मिल सकें। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को खटीमा क्षेत्रान्तर्गत व पूर्व में अन्य जिन क्षेत्रों में लक्षण पाये गये थे उन क्षेत्रों में उन पशुओं की जांच करें, जिससे यह बीमारी फैलती है व जांच के उपरान्त रिपोर्ट प्रस्तुत करेने के निर्देश दिये ताकि क्षेत्र में बीमारी को फैलने से रोका जा सकें। उन्होंने डेंगू, मलेरियां की रोक-थाम के लिये जिला मलेरिया अधिकारी को आवश्यक कडे कदम उठाने के निर्देश दिये। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियो को जिन क्षेत्रों में दिमागी बुखार के लक्षण अधिक पाये जा रहे हैं। उन क्षेत्रों को चिन्हित करते हुये उन क्षेत्रों में अधिक ध्यान देने के निर्देश दिये।

 इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना, सीएमओ डॉ. डीएस पंचपाल, एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना, डॉ. मलिक, जिला मलेरिया अधिकारी बीसी जोशी, जिला कार्यक्रम अधिकारी उदय प्रताप सिंह आदि उस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here