उत्तराखंड : बिना डॉक्टरी सलाह के बेची और खरीदी दवा तो खैर नहीं, ये आदेश जारी

देहरादून : उत्तराखंड में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। वहीं इस बीच सरकार ने बढ़ते मामलों की वजह से बिना डॉक्टर के पर्चे के किसी को भी सर्दी, खांसी और बुखार से जुड़ी दवाएं नहीं देने का आदेश मेडिरल स्टोर संचालकों को जारी किया है।

आपको बता दें कि उत्तराखंड में कोरोना के 1385 मामले हो चुके हैं। संक्रमण तेजी से प्रदेशमें फैल रहा है। अधिकतर प्रवासियों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इस पर नियंत्रण पाने के लिए लगातार कोशिश की जा रही है। कोरोना के लक्षण भी बुखार की तरह ही होते हैं। ऐसे में कई बार आम खांसी, जुकाम आदि को गंभीरता से नहीं लेता है।

पीड़ित नजदीकी मेडिकल स्टोर से साधारण खांसी, जुकाम की दवा लेकर खुद का इलाज शुरू कर देते हैं। इस कारण शुरूआत में बीमारी पकड़ में नहीं आ पाती। कोरोना के मामले में यदि कोई पीड़ित हो तो वह अपने संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को भी संक्रमित कर सकता है। इसे देखते हुए आयुक्त खाद्य संरक्षा एवं औषधि प्रशासन ने सभी औषधि व्यावसायियों को उनके महासंघ के जरिए सरकुलर जारी किया है।

डिकल स्टोर बिना किसी चिकित्सीय परामर्श के किसी को खांसी, जुकाम, बुखार व दर्द से संबंधित दवा न दें। साथ ही डॉक्टर की सलाह पर यानी की डॉक्टर की पर्ची पर दवा लेेनेवालों का नाम पता और फोन नंबर जरुर लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here