कांग्रेस में नहीं राहुल और सोनिया गांधी से बड़ा कोई चेहरा, जिनके चेहरे पर पार्टी चुनाव लड़ती आई- धस्माना

देहरादून : 2022 के विधान सभा चुनाव को लेकर कांग्रेस में जहां मुख्यमंत्री के चेहरा घोषित करने को लेकर घमासान मचा हुआ है और हरीश रावत गुट ने इसको लेकर मोर्चाे खोल दिया है तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस संगठन ने साफ कह दिया है कि पार्टी 2022 का चुनाव सामूहिक नेतृत्व पर लड़ेगी। सांसद प्रदीप टम्टा और कुंजवाल ने हरीश रावत को चेहरा घोषित करने की बात कही है।

बता दें कि अगले साल की शुरुआत में उत्तराखंड विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसे लेकर अभी से राजनीतिक हलचलें तेज हो गई हैं. कांग्रेस के राष्ट्रीय महासिचव और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पार्टी से आगामी विधानसभा चुनाव के लिए किसी नेता को सेनापति घोषित करने की मांग उठाकर सर्द मौसम में उत्तराखंड की सियासी तपिश को बढ़ा दिया है।

जी हां प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने इस पर कहा कि जहां तक चेहरे की बात है तो सोनिया गांधी, राहुल गांधी से बड़ा चेहरा कांग्रेस में कोई नहीं है जिनके चेहरे पर पार्टी चुनाव लड़ती आई है। अगर हरीश के द्वारा चेहरे घोषित करने की बात कही जा रही है तो हरीश रावत कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव है। पार्टी की सबसे बड़ी कमेठी यानी कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य हैं। कहा कि हरीश रावत अगर चेहरा घोषित करने की बात फेसबूक ट्विटर पर कर रहे हैं तो हरीश रावत चेहरा तय कराकर ला जाएं, यह तो हरीश रावत के हाथ में है क्योंकि हरीश रावत का कद बहुत बड़ा है और वह बहुत सीनियर नेता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here