दिल्ली हिंसा पर बोले रोशन रतूड़ी, देश के ऐसे ग़द्दारों को सरेआम फांसी पर लटका देना चाहिए

देहरादून : रोशन रतूड़ी को आज कौन नहीं जानता…रोशन रतूड़ी…बस नाम ही काफी है उनके कामों को जानने के लिए। रोशन रतूड़ी असहाय लोगों का सहारा हैं खासतौर पर उनके लिए जो विदेश जाकर नौकरी करने का सपना देखते हैं लेकिन वहां जाकर फंस जाते हैं..ऐसे में हर किसी को बस एक ही नाम मदद के लिए याद आता है वो हैं रोशन रतूड़ी।

बेगाने मुल्क में फंसे हों तो घबराना की जरुरत नहीं होती. रोशन रतूड़ी ही हैं जो कि उनकी अंधकार भरी जिंदगी को रोशन कर देते हैं। देवभूमि का लाल जो लोगों के लिए देवदूत बन गया है । दुबई में रहने वाले रोशन रतूड़ी आज हिंदुस्तान के लिए छुपकर वो काम कर रहे हैं जो कि सरकार को करना चाहिए।दुबई में रहने वाले रोशन रतूड़ी आज हिन्दुस्तान के हजारों उन युवाओं और परिवारों के लिए देवदूत हैं जिन्होंने वतन लौटने की आस छोड़ दी थी। रोशन मूल रूप से टिहरी के हिंडोलाखाल के भटवा गांव के रहने वाले हैं।

वहीं दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर रोशन रतूड़ी ने एक पोस्ट लिखी है। रोशन रतूड़ी की इज्जत पूरा हिंदुस्तान और दुनिया करती है…शायद हो सके उनका ये मैसेज सब दिल से पढ़ें और इसको माने।रोशन रतूड़ी ने फेसबुक के जरिए दिल्ली हिंसा को लेकर एक पोस्ट लिखी है औऱ शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही रोशन रतूड़ी ने सेना का भी जिक्र किया है।

"दिल्ली जैसी घटनाओं से देश की सीमाओं पर तैनात ,हमारे वीर जवानों का मनोबल कम हो जाता है । हमारे वीर जवान सैनिक जो देश की रक्षा के लिये रात दिन सीमा पर तैनात है । ऐसी घटनाओं से सीमा पर तैनात हमारे वीर जवान सैनिक अपने परिवारों को लेकर भी चिंतित हो जाते है । हमारे बहादुर वीर जवान सैनिक देश की रक्षा के अपना ख़ून बहा रहे है देश के लिये शहीद हो रहे है, और दूसरी तरफ़ देश के कुछ ग़द्दार देश के टुकड़े-टुकड़े करने की साज़िश कर रहे है। दिल्ली में हुए दगें फ़साद का एक ऐसा वीडीयो देखा जिसमें एक निहथे इंसान को सैकड़ों लोगों पथरों से इसलिये मार रहे है कि वो दूसरे धर्म का है ।जिसको देखकर मुझे बहुत दुख हुआ, क्या आज का इंसान,हैवान बन गया है जो एक दुसरे के खून प्यासे बन रहे है । कभी सोचा है ऐसी घटनाओं से आने वाली पीढ़ी पर क्या गुज़रेगी ? क्या बीतती होगी उन वीर जवान शहीदो की आत्माओं पर जिन्होंने “भारत माता “की रक्षा के लिये, देश की रक्षा के लिये अपने प्राणो का बलिदान दिया ! कभी सोचा है ऐसे दंगे फ़साद से सभी 133 करोड़ भारतीयों का ही नुक़सान होगा, और इस नुकसान की भरपाई हम सभी देशवासियों को अपनी मेहनत की कमाई से चुकाना पड़ेगी । कभी सोचा है ,ऐसी घटनाओं से विश्व में हमारे भारतीय सांस्कृति की जो साफ़ सुथरी छवि है वो कितनी ख़राब होगी ??देश के भीतर छिपे जितने भी देश के ग़द्दार है चाहे वो कोई भी हो ,सबको सरेआम फाँसी पर लटका देना चाहिए दिल्ली दंगा में हुए शहीद सभी की आत्माओं को भगवान शान्ति प्रदान करें ।दुबारा इस तरह की घटनाएँ हमारा देश मैं ना हो , यही भगवान से प्रार्थना करता हूँ ।Roshan Raturi RR ( International SoCial Worker )

Roshan Raturi RR द्वारा इस दिन पोस्ट की गई बुधवार, 26 फ़रवरी 2020

दिल्ली जैसी घटनाओं से हमारे वीर जवानों का मनोबल कम हो जाता है-रतूड़ी

रोशन रतूड़ी ने कहा कि दिल्ली जैसी घटनाओं से देश की सीमाओं पर तैनात ,हमारे वीर जवानों का मनोबल कम हो जाता है । हमारे वीर जवान सैनिक जो देश की रक्षा के लिये रात दिन सीमा पर तैनात है । ऐसी घटनाओं से सीमा पर तैनात हमारे वीर जवान सैनिक अपने परिवारों को लेकर भी चिंतित हो जाते है । हमारे बहादुर वीर जवान सैनिक देश की रक्षा के अपना ख़ून बहा रहे है देश के लिये शहीद हो रहे है, और दूसरी तरफ़ देश के कुछ ग़द्दार देश के टुकड़े-टुकड़े करने की साज़िश कर रहे है।

आज का इंसान,हैवान बन गया है जो एक दुसरे के खून प्यासे बन रहे हैं-रतूड़ी

आगे लिखा कि दिल्ली में हुए दगें फ़साद का एक ऐसा वीडीयो देखा जिसमें एक निहथे इंसान को सैकड़ों लोगों पथरों से इसलिये मार रहे है कि वो दूसरे धर्म का है ।जिसको देखकर मुझे बहुत दुख हुआ, क्या आज का इंसान,हैवान बन गया है जो एक दुसरे के खून प्यासे बन रहे है । कभी सोचा है ऐसी घटनाओं से आने वाली पीढ़ी पर क्या गुज़रेगी ? क्या बीतती होगी उन वीर जवान शहीदो की आत्माओं पर जिन्होंने “भारत माता “की रक्षा के लिये, देश की रक्षा के लिये अपने प्राणो का बलिदान दिया !

देश के ग़द्दारों को सरेआम फांसी पर लटका देना चाहिए-रोशन रतूड़ी

कभी सोचा है ऐसे दंगे फ़साद से सभी 133 करोड़ भारतीयों का ही नुक़सान होगा और इस नुकसान की भरपाई हम सभी देशवासियों को अपनी मेहनत की कमाई से चुकाना पड़ेगी। कभी सोचा है ,ऐसी घटनाओं से विश्व में हमारे भारतीय सांस्कृति की जो साफ़ सुथरी छवि है वो कितनी ख़राब होगी ?? देश के भीतर छिपे जितने भी देश के ग़द्दार है चाहे वो कोई भी हो ,सबको सरेआम फाँसी पर लटका देना चाहिए

दिल्ली दंगा में हुए शहीद सभी की आत्माओं को भगवान शान्ति प्रदान करें ।दुबारा इस तरह की घटनाएँ हमारा देश मैं ना हो , यही भगवान से प्रार्थना करता हूँ ।

3 COMMENTS

Leave a Reply to Parmod bhandari Cancel reply

Please enter your comment!
Please enter your name here