रुड़की : कांग्रेस ने की पुलवामा हमले की SIT से निष्पक्ष जांच करवाने की मांग

लक्सर : लक्सर में घटक सेवादल से तिरंगा यात्रा का शुभारंभ किया जिसमें सैकड़ों सेवादल कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। इस तिरंगा यात्रा के शुभारंभ के दौरान सेवा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी भाई देसाई, उत्तराखंड की पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी शिरकत की। बता दें कि रैली से पहले पुलवामा में शहीद हुए जवानों की आत्मा की शांति के लिए हवन किया गया और फिर 2 मिनट का मौन रखकर राष्ट्रगान गाया गया। वहीं इसके बाद उत्तराखंड की पूर्व सीएम हरीश रावत व आचार्य प्रमोद कृष्णम ने तिरंगा यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

जानकारी मिली कि इस कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश और काग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह को भी पहुंचना था लेकिन किसी कारणवश नहीं पहुंच पाए। इस बारे में हरीश रावत ने कहा कि और भी कई ऐसे कार्यक्रम हैं जिनमें शामिल होना बेहद जरूरी है। व्यस्त शेड्यूल के चलते वह लोग कार्यक्रम में नहीं आ सके हैं।

कांग्रेस की एसआईटी से निष्पक्ष जांच करवाने की मांग

वहीं इस कार्यक्रम के दौरान ज्यादातर कांग्रेसी नेताओं ने पुलवामा में हुए हमले की एसआईटी से निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि सरकार से जब भी जांच के लिए मांग की जाती है तो वह किसी ने किसी और मुद्दे को सामने लाकर पुलवामा में हुए हमले की जांच को पीछे धकेल रही है। जबकि कांग्रेसी चाहती है कि मामले की निष्पक्ष जांच हो और उन अधिकारियों व उन लोगों के नाम सामने आए उन लोगों के चेहरे बेनकाब हो जिन्होंने हमले में किसी न किसी रूप में भाग लिया है।

निष्पक्ष जांच पुलवामा में हुए शहीदों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी-आचार्य प्रमोद कृष्णम

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि वो सरकार से पुलवामा में हुए हमले की एसआईटी जांच की मांग करता हूं और निष्पक्ष जांच हो। कहा कि निष्पक्ष जांच पुलवामा में हुए शहीदों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि उन लोगों के चेहरों से नकाब हटाया जाए जिन लोगों का किसी न किसी रूप में पुलवामा में हुए हमले में हाथ है।

इस दौरान हरीश रावत ने कहाकि इस कार्यक्रम को पुलवामा में हुए शहीदों और राजीव गांधी के जन्मदिन को लेकर रखा गया है। जिसमें तिरंगा यात्रा का आगाज किया जाएगा। तिरंगा यात्रा लक्सर से शुरू कर हो कर डोईवाला तक जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here