RTI में खुलासा : हरिद्वार जिले के विधायकों की 69% विधायक निधि खर्च, 57 कार्य नहीं हुए शुरु

हरिद्वार : आरटीआई में हरिद्वार जिले की विधायकी खर्च और कार्यों को लेकर खुलासा हुआ है। बता दें कि वर्तमान विधायकी समाप्त होने वाले अंतिम साल 2021-22 मेें हरिद्वार जिले के 11 विधायकों की चुनाव घोषणा होने से पूर्व 31 दिसम्बर 2021 तक 69 प्रतिशत विधायक निधि खर्च हुई तो वहीं 1295 लाख 25 हजार की धनराशि शेष है जबकि प्रदेश के विधायकों की 68 प्रतिशत ही खर्च हुई है। विधायकों के कुल 859 कार्य स्वीकृत हुये, इसमें से दिसम्बर तक 400 कार्य ही पूरे हो सके जबकि 57 कार्य तो शुरू भी नहीं हुये।

काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन (एडवोकेट) ने उत्तराखंड के ग्राम्य विकास आयुक्त कार्यालय से विधायक निधि खर्च सम्बन्धी विवरणों की सूचना मांगी थी। इसके उत्तर में उपायुक्त (प्रशासन) हरगोविन्द भट्ट ने अपने पत्रांक 2830 के साथ वर्तमान विधायकों की विधायक निधि विवरण की फोटो प्रति उपलब्ध करायी है।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार वर्ष 2021-22 में हरिद्वार जिले के सभी 11 विधायकों को 375 लाख प्रति विधायक कुल 4125 लाख की विधायक निधि उपलब्ध हुई है। इसमें से 31 दिसम्बर 2021 तक 2829.75 लाख की विधायक निधि खर्च हुई हैै तथा 1295.25 लाख की विधायक निधि खर्च होने को शेष है। विधायकों द्वारा जिले में कुल 859 कार्य स्वीकृत किये गये है इसमें से केवल 400 कार्य ही पूर्ण हो सके जबकि 57 कार्य शुरू नहीं हुये है तथा 402 कार्य चल रहे हैं। इन कार्यों में अनुसूचित जाति के लिये कुल 21.54 प्रतिशत 185 तथा अनुसूचित जन जाति 0.81 प्रतिशत 7 कार्य ही स्वीकृत हुये हैं।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार सर्वाधिक विधायक निधि 85 प्रतिशत लक्सर विधायक संजय गुप्ता जबकि जिले में सबसे कम 32 प्रतिशत भगवानपुर विधायक श्रीमति ममता राकेश की खर्च हुई हैै। अन्य विधायकों में कंुवर प्रणव सिंह चैम्पियन की 69, सुरेश राठौर की 76, प्रदीप बत्रा की 83, मदन कौशिक की 40, देेशराज कर्णवाल की 69, काजी निजामुद्दीन की 84, आदेश चैहान की 80, यतीश्वरानन्द की 61 तथा फुरकान अहमद की 76 प्रतिशत विधायक निधि खर्च हुई है।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार सर्वाधिक 171 कार्य खानपुर विधायक कंुवर प्रणव सिंह चैम्पियन द्वारा तथा सबसे कम 47 कार्य बीएचईल रानीपुर विधायक आदेश चैहान द्वारा स्वीकृत किये गये है। अन्य विधायकों में ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौर द्वारा 68, रूड़की विधायक प्रदीप बत्रा द्वारा 52, हरिद्वार विधायक मदन कौशिक द्वारा 63 झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल द्वारा 88, भगवानपुर विधायक श्रीमति ममता राकेश द्वारा 64, मंगलौर विधायक काजी निजामुद्दीन द्वारा 64, लक्सर विधायक संजय गुप्ता द्वारा 106, हरिद्वार ग्रामीण विधायक यतीश्वरानन्द द्वारा 61 तथा पिरान कलियर विधायक फुरकान द्वारा 76 कार्य स्वीकृत किये गये हैं।

स्वीकृत कार्यों में 57 कार्य प्रारंभ नहीं हुये इनमें सर्वाधिक 15-15 कार्य खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह व झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल तथा सबसे कम 3 कार्य रूड़की विधायक प्रदीप बत्रा के है। इसके अतिरिक्त अन्य विधायकों के कार्यों में मदन कौशिक के 7, श्रीमति ममता राकेश के 4, आदेश चैहान के 6 तथा फुरकान अहमद के 7 कार्य 31 दिसम्बर 21 तक प्रारंभ नहीं हो सके है। 4 विधायकों सुरेश राठौर, काजी निजामुद्दीन, संजय गुप्ता तथा यतीश्वरानन्द का ऐसा कोई कार्य नहीं है जो प्रारंभ नहीं हुये है।

अनुसूचित जाति कल्याण का तो सभी विधायक दावा करते हैै लेकिन जिले में कुल स्वीकृत 185 अनुसूचित जाति के कार्यों में सर्वाधिक 27 मंगलौर विधायक तथा सबसे कम 8 हरिद्वार ग्रामीण विधायक ने किये है। जबकि अन्य विधायकों में 26-26 खानपुर तथा झबरेड़ा विधायक, 11 ज्वालापुर विधायक, 21 रूड़की विधायक, 10 हरिद्वार विधायक, 15 भगवानपुर विधायक, 9 बीएचईल रानीपुर विधायक, 22 लक्सर विधायक तथा 10 पिरान कलियर विधायक स्वीकृत कराये गये है।

अनुसूचित जनजाति के जिले में कुल 7 कार्योंे में सभी हरिद्वार ग्रामीण विधायक द्वारा स्वीकृत कराये गये हैै। अन्य विधायकों द्वारा कोई भी कार्य स्वीकृत नहीं कराया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here