हरिद्वार VIDEO : दो बच्चों के साथ पानी की टंकी पर चढ़ी महिला, पुलिस प्रशासन के छूटे पसीने

धर्मनगरी हरिद्वार की उपनगरी ज्वालापुर में पुलिस और प्रशासन के लिए उस समय बड़ा सरदर्द बन गया जब एक महिला अपने दो बच्चों के साथ पानी की टंकी पर जा चढ़ी पानी की टंकी पर चढ़ी यह महिला टंकी से कूदकर आत्महत्या करने की चेतावनी दे रही थी। देखते ही देखते मौके पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। स्थानीय लोगों ने महिला के टंकी पर चढ़ने की सूचना पुलिस और प्रशासन को दी आनन-फानन में पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और किसी तरह समझा-बुझाकर महिला को बच्चों सहित पानी की टंकी से सकुशल नीचे उतारा गया। वहीं यह ड्रामा कई घंटों तक चलता रहा पुलिस और प्रशासन को महिला को सकुशल नीचे लाने में कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा।
https://youtu.be/ywSiW2ewHUM
ये है मामला
आपको बता दें कि पांडे वाला धीरवाली क्षेत्र में रहने वाली महिला आज सुबह अपने बच्चों के साथ पानी की टंकी पर जा चढ़ी। महिला की पहचान कामिनी रानी पत्नी विक्रांत चौहान के रूप में हुई। महिला तहसील के अधिकारियों से और पटवारी से अपनी जमीन के विवाद को लेकर परेशान चल रही थी। कहीं कोई सुनवाई ना होने की वजह से महिला ने आज अपनी मांगे मनवाने के लिए और अधिकारियों से सही कार्रवाई किए जाने के लिए पानी की टंकी पर चढ़कर आत्महत्या करने की कोशिश की गनीमत रही की महिला को सकुशल समय रहते नीचे उतार लिया गया।
तहसील के अधिकारी और पटवारी पर लगाया गंभीर आरोप
अपनी दो बच्चियों के साथ पानी की टंकी पर चढ़ी महिला इस दौरान तहसील के अधिकारी और पटवारी पर गंभीर आरोप लगाया। महिला कामिनी रानी का कहना है कि विभाग द्वारा मुझे परेशान किया जा रहा है। विभाग के बार बार चक्कर काटने के बाद भी मुझे सिर्फ तारीख और तारीख दी जा रही है। मेरी कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। तहसील में मेरी संपत्ति का रिकॉर्ड होने के बावजूद मेरी संपत्ति अधिकारियों द्वारा मुझे नहीं दिलवाई जा रही है। कहा कि मैं तहसील के चक्कर काट काट कर थक चुकी हूं और आज त्रस्त होकर मैंने यह कदम उठाया है। कहा अगर अधिकारियों द्वारा मेरी कोई सुनवाई नहीं की जाती है और मेरी समस्या का समाधान नहीं किया जाता है तो मैं भविष्य में कोई भी कदम उठा सकती हूं मेरी मांग है कि अधिकारियों द्वारा मेरी समस्या का समाधान किया जाए।
वहीं स्थानीय निवासी भी इस मामले में तहसील के पटवारी तेलू राम और तहसील के अधिकारियों की भूमिका पर सवालिया निशान लगा रहे हैं स्थानीय लोगो ने मौके पर तहसील विभाग और पटवारी के खिलाफ जमकर नारे बाज़ी भी की स्थानीय निवासियों का कहना है कि कामिनी रानी की पैतृक संपत्ति है और इनकी पैतृक संपत्ति में तेलू राम पटवारी द्वारा गड़बड़ की गई है महिला द्वारा तहसीलदार और एसडीएम और कई अधिकारी पुलिस के कई बार चक्कर काटने के बाद भी कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई तेलु राम पटवारी द्वारा महिला पर प्रेशर बनाया जा रहा है कहीं सुनवाई ना होने के कारण आज महिला द्वारा यह कदम उठाया गया है
वहीं घंटों चले हइप्रोफिल ड्रामे के मामले में तहसीलदार आशीष घिल्डियाल का कहना है कि महिला जो टंकी पर चढ़ी है उनकी जमीन संबंधित विवाद है महिला के  ससुर द्वारा कुछ जमीन बेची भी गई है यह 30 साल पुराना मामला है और जांच का विषय है नायब तहसीलदार की अध्यक्षता में इस मामले के निस्तारण के लिए एक टीम बनाई गई है महिला के सभी कागजो का अध्यन किया जा रहा है जांच पूरी होने पर मामले में नियमानुसार करवाई की जाएगी
अधिकारियों के लापरवाह बर्ताव के कारण आज एक सिस्टम से त्रस्त महिला को अपने बच्चों के साथ यह कदम उठाना पड़ा है टंकी पर चढ़ी महिला को पुलिस और प्रशासनके के आश्वासन देने के बाद नीचे तो सकुशल उतार लिया गया देखने वाली बात यह होगी कि महिला की समस्या का समाधान कब तक अधिकारियों द्वारा किया जाता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here