भ्रष्टाचार को दबाने की कोशिश कर रही सरकार, जनता समझ चुकी है BJP का खेल : कलेर

देहरादून : अपने ही विधायक को अनुशासनहीन कहने वाली त्रिवेंद्र सरकार अब पूरन सिंह फर्त्याल को मनाने की कवायद शुरू कर चुकी है जिसकी ज़िम्मेदारी सांसद अजय टम्टा को दे दी गई।  कोर कमेटी की बैठक से पहले पूरन सिंह फर्त्याल पर कार्रवाई की बात कहने वाली पार्टी अब बीजेपी सांसदों के माध्यम से सुलह करने में जुट गई है। बीजेपी को आप अध्यक्ष ने आड़े हाथ लिया और हमला किया।

आखिर बीजेपी पार्टी, प्रदेश में सियासी ड्रामा क्यों कर रही है- क्लेर

आप प्रदेश अध्यक्ष कलेर ने कहा कि आखिर बीजेपी प्रदेश में सियासी ड्रामा क्यों कर रही है,  जो पार्टी अपने विधायक पर अनुशासनहीनता का आरोप लगा रही थी वही पार्टी आज पूरन सिंह फ़र्त्याल को मानने में क्यों जुट गई है, भाजपा कोर कमेटी के इस फैसले से यह साफ लग रहा है कि नोटिस देने में शायद बीजेपी जल्दबाजी कर गया और अब इसी मामले में, भाजपा संगठन बैकफुट पर आ गया है। एक सप्ताह पहले अपने ही विधायक को कारण बताओ नोटिस भेजने वाला भाजपा संगठन अब लीपापोती करता नजर आ रहा है। आज कोर ग्रुप की बैठक में लिए गए फैसले के तहत टनकपुर जौलजीवी सड़क निर्माण विवाद को लेकर अपनी ही सरकार की नाक में दम करने वाले विधायक पूरन सिंह फर्त्याल से अब सांसद अजय टम्टा और अजय भट्ट बातचीत करेंगे।

आखिर प्रदेश में बीजेपी क्यों समय-समय पर सियासी ड्रामा कर रही है-कलेर

इस मामले में पहले ही काफी फजीहत करा चुकी भाजपा, विधायक को नोटिस भी भेज चुकी है और वही विधायक दूसरी और पत्र के जरिए पलटवार भी कर चुके हैं और अपनी बात पर डटे हैं। आम आदमी पार्टी का प्रदेश सरकार से सवाल है कि आखिर प्रदेश में बीजेपी क्यों समय-समय पर सियासी ड्रामा कर रही है और इस सियासी ड्रामे से जनता को क्या दिखाने की कोशिश की जा रही है।

भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करने वालों को बीजेपी दोषी के नजर से क्यों देखती है-कलेर

उनका कहना है कि एक और बीजेपी जीरो टॉलरेंस की बात करती है वहीं दूसरी ओर भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करने वालों को बीजेपी दोषी के नजर से क्यों देखती है। आप प्रदेश अध्यक्ष कलेर ने कहा,आखिर विधायक पूरन सिंह फर्त्याल को मना कर बीजेपी अब कहीं टेंडर घोटाले को दबाने की कोशिश करेगी लेकिन फर्त्याल जिस तरह इस मामले पर अडिग थे उम्मीद करते हैं इसपर वैसे ही अडिग रहेंगे जब तक टीजी रोड टेंडर घोटाले में हुए भ्रष्टाचार का खुलासा ना हो ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here