देहरादून में कोरोना का कहर : 2 दिन बाजार बंद ऱखने का फैसला, ये है 4 मांगे

देहरादून में वर्तमान में कोरोना के बढते दुष्प्रभाव को देखते हुए और उससे बाजारों के खुलने औऱ बाजारों को खुलने से संबंधित विषय को लेकर दून उद्योग व्यापार मण्डल के माध्यम् से कार्यकारी अध्यक्ष व मीटिंग के संयोजक सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल के माध्यम् से गीता भवन मंदिर के प्रांगण में सोशल डिस्टेन्सिंग के साथ बैठक का आयोजन किया गया।

दून उद्योग व्यापार मण्डल के आह्वान पर सम्बद्ध सभी ईकाईयों के प्रतिनिधियौं ने बैठक में हिस्सा लिया जिसमें मुख्य रूप से पल्टन बाजार, डिस्पेन्सरी रोड, धामावाला, घण्टाघर, राजपुर रोड, धर्मपुर, चकराता रोड, पटेल नगर, पीपल मंडी, बाबू गंज, हनुमान चौक, राजा रोड, झण्डा बाजार, टर्नर रोड, पोस्ट आफिस रोड क्लेमनटाउन, बंजारावाला, राजेन्द्र नगर, कौलागढ, हाथीबडकला, प्रेमनगर, रीठा मंडी, तिलक रोड, राजा रोड, आशारोडी, केदारपुर, पल्टन बाजार, कावंली रोड, देहराखास, गांधी ग्राम,जीएमएस रोड, कपडा कमेटी, पेट्रौल डीलर एशोसिएशन, आदि अन्य प्रमुख इकाईयौं ने प्रतिभाग किया।

बैठक में कोविड -19 के कल आए देहरादून में 623 केस एवं प्रदेश में आए 1650 केस के लिए व्यापारी और व्यापार मण्डल बहुत चिन्तित दिखे। 12 सितंबर को हुई वीडियों कॉन्फ्रेंस के क्रम् में उच्च पदाधिकारियौं की शासन प्रशासन व पुलिस विभाग से हुई बातचीत के पश्चात बीते दिन बैठक की गई।

बैठक में सभी ईकाईयौं के अध्यक्षों ने एक सुर में यह माँग उठाई कि वर्तमान परिस्थितियौं को देखते हुए हर हालत में आने वाले तीन शनिवार बंदी रहनी चाहिए और सभी प्रकार की आवाजाही पहले की भांति शनिवार और रविवार को बंद रहनी चाहिए। कहा कि यह अभी ही होना इसलिए भी होना जरूरी है क्यूंकि अभी तो बाजारों में मंदी का माहौल है एवं अगले महीनों से त्यौहारों का सीजन आने वाला है और तब एक दिन के लिए भी बाजार बंद रखना मुमकिन नहीं होगा। बैठक में यह भी चर्चा का विषय रहा कि कहीं ना कहीं शहर वासियों के अंदर से कोरोना का भय ख़त्म हो चुका जिस प्रकार से रविवार की साप्ताहिक बंदी के दिन मसूरी रोड, मालदेवता रोड, राजपुर रोड आदि पर भारी भीड़ होना इस बात का संकेत है। जिस तेज़ी से केस बढ़ रहे हैं तो आने वाले समय में निश्चित ही परिस्थिति काबू से बाहर ना हो जाए।

बैठक में सर्वसम्मति से चार बिन्दुओं पर निर्णय लिया गया

1. सर्वप्रथम बैठक में सबसे महत्वपूर्ण निर्णय यह लिए गया कि आने वाले तीन शनिवार देहरादून व्यापार पूर्णतः बंद रहेगा चाहे वो किसी भी तरह का व्यापार हो। कोई भी व्यापारी अपने प्रतिष्ठान नहीं खोलेंगे और किसी भी प्रकार का व्यापार संचालित नहीं किया जाएगा। प्रशासन से यह सहयोग मांगा की किसी भी प्रकार की आवाजाही ना हो तभी कोरोना की चैन टूटने की कोई संभावना बन सकेगी। व्यापार मण्डल ने प्रशासन से भी इसमें पूरा सहयोग करने की अपील की है कि शनिवार इतवार को कर्फ्यू की तर्ज पर सख्त लॉक डाउन होना चाहिए और दूध की व्यवस्था भी प्रातः 6-10 बजे तक ही होगी।

2) बाजारों में सैनिटाईजेशन की प्रक्रिया जोकि काफी समय से बंद हो चूकी है दोबारा जोर-शोर से सभी बाजारों में होनी चाहिए।

3) बैठक में व्यापारी प्रतिनिधियौं ने यह भी प्रतिज्ञा ली कि वे अपने-अपने बाजारौं में सोशल डिस्टेन्स मास्क एवं सैनिटाईजर के प्रयोग के लिए सभी दुकानदारौं को लामबंद करेंगे एवं उन्हैं जागरूक करेंगे कि सावधानी ही सही मायने में उनके ग्राहक, परिवार और कर्मचारियौं के बचाव के लिए आवश्यक है।

4) बैठक में प्रमुखता से यह बात भी आई कि प्रशासन से यह भी अपील की जाए कि रोजमर्रा में बाजार की समयावधि को सांय 5 बजे तक के लिए ही किया जाए, जिससे कि पूर्व की भांति सभी लोग शहर सपाटा करने की बजाए आवश्यकता के लिए घर से बाहर निकलें।

बैठक में अपने विचार रखते हुए दून उद्योग के संरक्षक अनिल गोयल ने कहा कि आज की बैठक से यह जाहिर होता है व्यापारी वर्ग पुरी तरह से कोरोना को हराने के लिए सजग है और चाहे उसके लिए उसको अपना व्यापार बंद भी करना पडेगा तो वो उसके लिए भी तैयार होगा। इसके लिए हम सब एकजूट हैं दून उद्योग व्यापार मण्डल के अध्यक्ष विपिन नागलिया ने कहा कि जिस तरह से आज की इस बैठक में व्यापारियों ने जो भी सुझाव आए हैं, उन पर गहनता से विचार किया जाएगा और जल्द ही इसको अमल में भी लाने के लिए शासन से बात की जाएगी।

दून उद्योग व्यापार मण्डल के कार्यकारी अध्यक्ष सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल ने कहा कि कोरोना के फैलाव को देखते हुए आज व्यापारी समाज ने अपने परिवार, अपने कर्मचारी, अपने ग्राहक तथा अपने शहरवासियों की चिन्ता के लिए बाजारों को शनिवार बंद करने की जो बात कही है, उस पर जल्द ही शासन प्रशासन व माननीय मुख्यमंत्री जी से एक प्रतिनिधिमण्डल मुलाकात करेगा चूंकि इस पर शासन व पुलिस प्रशासन का सहयोग अपेक्षित है।

दून उद्योग व्यापार मण्डल के महामंत्री सुनील मैंसोन ने चिन्ता जताते हुए कहा कि व्यापारी वर्ग कोरोना से बचने के फपाय ढूंढ रहा है और निश्चित तौर से आज की बैठक से उसका समाधान निकलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here