देहरादून पुष्पांजलि फ्लैट्स फ्रॉड मामला : लोगों को राहत, फरार बिल्डर के साथी ने पुलिस को कही ये बात

पुष्पांजली फ्लैट्स में अपनी गाढ़ी कमाई लुटा चुके लोगों के लिए राहत भरी ख़बर है। जी हां डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने इस मामले में सख्त रुख अपनाया है और लोगों को बड़ी राहत दी है। आपको बता दें कि डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने फ्लैट्स के नाम पर लोगों से करोड़ो रूपये की धोखाधड़ी करने वाले फ़रार दीपक मित्तल के बिजनेस राजपाल वालिया को चेतावनी दी थी जिसके बाद राजपाल वालिया ने पुलिस को लिखित में दिया है की वो अधूरे पड़े फ्लैट्स लोगों को बनाकर देगा या लोगों के पैसे ब्याज समेत लौटाएगा।

बता दें कि पुष्पांजली फ्लैट्स में करीब 88 लोगों के साथ 30 करोड़ का फ्रॉड सामने आया था, फ्लैट्स के नाम पर लोगों से करोड़ों लेकर मुख्य आरोपी दीपक मित्तल अपनी पत्नी के साथ विदेश फरार हो चुका है.

पुलिस का कहना है की लोगों का पैसा वापस मिल सके इसको देखते हुए दीपक मित्तल के पार्टनर राजपाल वालिया को फ्लैट्स बनाने के लिए एक साल का समय दिया गया है. इसके साथ ही ऐसा न करने पर लोगों ने जो रकम लगाई है उसे ब्याज सहित वापस करने के लिए भी कहा गया है.बता दें कि, जिन निवेशको का पैसा प्रोजेक्ट को पूरा करने में लगाया जाना था उसे दीपक मित्तल और उसकी पत्नी के साथ राजपाल वालिया के अकाउंट में ट्रांसफर किए जाने की बात भी सामने आई है. माना जा रहा था की राजपाल वालिया की मुश्किलें बढ़ेंगी लेकिन पुलिस ने समय दे दिया है. देखने वाली बात ये होगी की एक बार अपनी गाढ़ी कमाई लुटा चुके लोगों के लिए दिखती हुई ये राहत पूरी हो पाती है या फिर नहीं.

डीआईजी अरुण मोहन जोशी का बयान

इस मामले में डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है की लोगों का पैसा वापस मिल सके इसको देखते हुए दीपक मित्तल के पार्टनर राजपाल वालिया को फ्लैट्स बनाने के लिए एक साल का समय दिया गया है। इसके साथ ही ऐसा ना करने पर लोगों द्वारा लगाई गई रक़म को ब्याज सहित वापस करने के लिए भी कहा गया है। कहा कि दोनों में से एक शर्त पूरी न होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here