देहरादून : पुलिस की गैरमौजूदगी में नहीं तोड़ पाएंगे ट्रैफिक रुल, कोई भी भेज सकता है फोटो और वीडियो

देहरादून : जी हां सही पढ़ा आपने…अब देहरादून वासी या देहरादून आने वाले वाहन चालक पुलिस की गैर मौजूदगी में भी ट्रैफिक रुल नहीं तोड़ पाएंगे औऱ इस नई पहल की शुरुआत की है ट्रैफिक निदेशालय ने। जी हां देहरादून में अब कोई भी शख्स ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की फोटो खींचकर या वीडियो बनाकर सीधे पुलिस को भेज सकता है वो भी ‘ट्रैफिक आई उत्तराखंड’ मोबाइल एप से.

जी हां बता दें कि जनता को ट्रैफिक नियमों का पालन कराने के लिए देहरादून पुलिस ने नई पहल की शुरुआत की है जिसके लिए ट्रैफिक निदेशालय ने एक एप तैयार की है जिसका नाम है ट्रैफिक आई उत्तराखंड। यह एप आपको गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध हो गी। हालांकि, इसकी विधिवत लांचिंग जल्द ही की जाएगी।

सड़क हादसों की रोकथाम औऱ लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरुक करने की पहल

सड़क हादसों की रोकथाम औऱ लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरुक करने के लिए ट्रैफिक निदेशालय की ये पहल कितनी रंग लाती है ये आने वाले समय में पता चलेगा। इस पर यातायात निदेशक केवल खुराना का कहना है कि ‘ट्रैफिक आई उत्तराखंड’ एप तैयार हो चुका है। कोई भी स्मार्टफोन धारक इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकता है। एप से फोटो लेने या वीडियो बनाने का समय, लोकेशन आदि का भी पता चल जाएगा। इससे अगर कोई व्यक्ति पुरानी फोटो या वीडियो डालेगा तो उसकी पहचान आसानी से हो जाएगी।

गुप्त रखा जाएगा शिकायत करने वाले का नाम पता

केवल खुराना ने बताया कि इस एप के होमपेज पर ही फोटो या वीडियो अपलोड करने का ऑप्शन है। फोटो या वीडियो को अपलोड करने से पहले जिले का चयन करना होगा। इसके बाद फोटो या वीडियो अपलोड करके सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करते ही जो भी फोटो वीडियो जिले की पुलिस के कंट्रोल रूम को मिल जाएगा। पुलिस कंट्रोल रूम से फोटो या वीडियो की क्रॉस चेकिंग कराने के बाद ही आगे की कार्रवाई करेगा। केवल खुराना ने बताया कि फोटो औऱ वीडियो भेजने वाले का नाम पता गुप्त रखा जाएगा।

नंबर प्लेट की फोटो-वीडियो हो साफ, तभी संभव कार्रवाई

यातायात निदेशक केवल खुराना ने बताया कि फोटो-वीडियो लेते समय यह ध्यान रखना होगा कि  जिसके भी वाहन की आप फोटो-वीडियो बना रहे हो उसका नंबर प्लेट साफ आए बिन नंबर के कार्रवाई करना संभव नहीं। क्योंकि इसी के जरिए पुलिस वाहन स्वामी की पहचान कर आरटीओ में दर्ज उसके पते पर डाक के जरिये कार्रवाई की रिपोर्ट भेजेगी, इसलिए हो सके तो नंबर प्लेट की फोटो-वीडियोग्राफी साफ हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here