देहरादून : पत्नी से अक्सर होता था झगड़ा, तात्रिंक से ठीक करने के चक्कर में मिली मौत, 3 गिरफ्तार

देहरादून : राजपुर थाना क्षेत्र में हुई गुमशुदा बुजुर्ग व्यक्ति की हत्या के आरोपी को राजपुर पुलिस

ने महिला समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया साथ ही पुलिस ने आरोपियों से लूटी गयी गाड़ी, मोबाईल व अन्य सामग्री बरामद की। बता दें कि बुजुर्ग पत्नी से परेशान था आऱोपियों ने उसे झांसा दिया कि तांत्रिक द्वारा उसकी पत्नी का दिमाग ठीक कर दिया जाएगा लेकिन उसे लूटकर मौत दे दी गई।

बुजुर्ग की पत्नी ने की थी शिकायत

बता दें कि 8 फरवरी को बुजुर्ग महिला सीमा उर्फ शैलजा चौहान पत्नी श्री आनन्द प्रकाश चौहान ने राजपुर थाने पर आकर शिकायत दर्ज कराई कि उनके पति आनन्द प्रकाश चौहान (65) 5 फरवरी को सुबह घर से जखोली, सोनीपत के लिए अपनी गाड़ी से निकले थे लेकिन वो वहां नहीं पहुंचे औऱ न उनका फोन लग रहा है।जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर बुजुर्ग की तलाश शुरु की।

ऐसे गिरफ्त में आए आऱोपी

डीआईजी ने तुरंत टीम गठित कर जांच के निर्देश दिए। टीम गठन के बाद गुमशुदा के बैंक एकाउन्ट की जानकारी खंगाली गई जिसमे पता चला कि एक दिन पहले बुजुर्ग ने अपने बैंक खाते से 4 फरवरी को डेढ लाख रूपये निकाले हैं औऱ प्रथम दृष्टया गुमशुदा का देहरादून से खुद कही चले जाना सामने आया। पुलिस ने हर तरह से बुजुर्ग को ढूंढने की कोशिश की। वहीं एसओजी ने गुमशुदा के नम्बर की कॉल डिटेल निकाली तो पता चला कि गुमशुदा ने आखिरी बार नरपाल नाम के व्यक्ति के नंबर पर बात की है, जो बजाज इन्स्टीट्यूट जाखन में गार्ड का काम करता है। नरपाल अपने गांव की एक महिला सरोजबाला, जो उसके दूर के रिश्ते में साली लगती है, के साथ जाखन में पेट्रोल पम्प के पास किराये के मकान में रहता था। दोनों करीब 30 साल से एक साथ रह रहे हैं और दोनों छितावर बिजनौर के रहने वाले हैं। नरपाल की तलाश करने पर जानकारी मिली कि वह सांस व दिल की बीमारी से पीडित है औऱ 9 फरवरी से सरकारी अस्पताल बिजनौर में एडमिट है। इस पर नरपाल से पूछताछ के लिए एक टीम बिजनौर रवाना की गयी।

नरपाल का भाई प्रेमपाल के बारे में ऐेसे चला पता

वहीं वहां डाक्टरों ने मरीज की हालत गम्भीर बताते हुए पूछताछ से इंकार कर दिया गया। इसी दौरान सर्विलांस के माध्यम से गुमशुदा के मोबाईल में एक अन्य नम्बर के एक्टिवेट होने की जानकारी मिली, जो प्रेमपाल के नाम पर रजिस्टर्ड मिला। जानकारी मिली कि उक्त व्यक्ति प्रेमपाल, नरपाल का भाई है जिस पर प्रेमपाल और उक्त महिला सरोजबाला को पूछताछ के लिए थाना राजपुर बुलवाया गया था। उक्त दोनों व्यक्ति 28 फरवरी को अपने वकील के साथ चौकी जाखन पहुँचे थे। इन दोनो से सख्ती से पूछताछ करने पर प्रेमपाल ने बताया कि उसके भआई नरपाल ने बुजुर्ग की हत्या की साजिश रची थी ताकि पैसा लूटा जा सके। इसमे वो उसका भाई और सरोजबाला शामिल थे। बताया कि नरपाल ने चौहान को गैण्डीखत्ता में बुलाया था और वहां से किसी तांत्रिक से मिलाने के बहाने उसे 2-3 किलोमीटर अन्दर जंगल में ले जाकर उसका गला दबाकर उसे मार दिया था और लूट को अंजाम दिया।

पौड़ी में राजस्व अधिकारी ने दी जानकारी

वहीं पुलिस को पौड़ी में राजस्व अधिकारी ने जानकारी दी कि 6 फरवरी को गैण्डीखत्ता के जंगल में एक बुजुर्ग व्यक्ति की लाश मिली थी जिसके पंचनामा व पोस्टमार्टम की कार्यवाही की थी। मृतक के फोटोग्राफ, कपडों से मृतक की पहचान की गई। वहीं पुलिस टीम ने आरोपी प्रेमपाल और सरोजबाला को मौके पर ही गिरफ्तार किया गया और अन्य 2 अभियुक्त नरपाल और संजीव की गिरफ्तारी के लिए पुलिस और एसओजी की टीम को अलग से रवाना किया गया। उक्त टीम द्वारा नरपाल को मय कार और मोबाईल के छितावर बिजनौर से गिरफ्तार करने में सफलता मिली। वहीं आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया।

पत्नी से होता था अक्सर झगड़ा, तात्रिंत से ठीक करने के चक्कर में मिली मौत

पूछताछ में आरोपी प्रेमपाल ने बताया कि उसके भाई और एक महिला समेत उसने मिलकर हत्या को अंजाम दिया। बताया कि पैसों के लिए उन्होंने बुजुर्ग की हत्या की। आऱोपी ने पुलिस को बताया कि उसके भाई नरपाल ने उसे बताया कि देहरादून में उसकी मुलाकात आनन्द प्रकाश चौहान नाम के व्यक्ति के साथ हुई थी, जो की उसके साथ शराब पीता था। आनन्द ने नरपाल को बताया गया था कि उसकी पत्नी सीमा उससे झगड़कर बार-बार 4-5 महीने के लिए मायके चली जाती है, जिससे वो काफी परेशान रहता था तो नरपाल ने उसको एक तांत्रिक के बारे में बताया, जो उसकी पत्नी का दिमाग फेर दे और वह उसके घर में शांति से रहे, जिस पर चौहान राजी हो गया था।

पैसों के लालच के चक्कर में हत्या को अंजाम दिया-आरोपी

आरोपी प्रेमपाल ने बताया कि 5 फरवरी को उसके भाई नरपाल ने उसे बताया कि देहरादून से चौहान अपनी गाड़ी में आ रहा है, जो अपने साथ काफी पैसे भी ला रहा है। तीनों ने मिलकर उसे मारने और लूट को अंजाम देने का प्लान बनाया। आरोपी ने बताया कि योजना के मुताबिक तीनों ने चौहान को गैंडीखाता बुलासा और खुद भी वहां पहुंचे. जैसी चौहान वहां पहुंचा तीनों उसकी गाड़ी में बैठ गए और उसे तांत्रिक के बारे में बताया। वहीं तीनों ने गैण्डीखाता के पास जंगल के रास्ते में गाड़ी रोककर हम सभी जंगल के अन्दर एक पगडण्डी के सहारे लालडांग की ओर चले औऱ वहीं बुजुर्ग को मौत के घाट उतार दिया। प्रेमपाल ने बताया कि उन्होंने एक ड्राइवर की व्यवस्था की और अपने अपने जगह चले गए। प्रेमपाल ने बताया कि बाद में मुझे पता चला कि नरपाल हॉस्पिटल में भर्ती हो गया है, हम लोग काफी डर गये थे फिर मैं और सरोजबाला पुलिस के पूछताछ किये जाने पर इन सब बातों को ज्यादा देर छिपा नहीं पाये। बताया कि हम पैसों की लालच के चक्कर में नरपाल के झांसे में आ गए थे । आरोपियों ने बताया कि नरपाल पूर्व में भी 03 बार बिजनौर से जेल जा चुका है।

पुलिस टीम

1- श्वेता चैबे, पुलिस अधीक्षक नगर, क्षेत्राधिकारी डालनवाला विवेक कुमार, थानाध्यक्ष राजपुर अशोक राठौड़, संदीप रावत, व.उ.नि. थाना राजपुर, जाखन चौकी प्रभारी योगेश चन्द पाण्डेय,उप.नि. राजपुर थाना ज्योति प्रसाद उनियाल, कानि 417 मनमोहन, थाना राजपुर, कानि 1051 मुकेश बुटोला, थाना राजपुर, कानि 534 भरत, थाना राजपुर

एसओजी टीम में उनि मोहन सिंह, कानि प्रमोद, कानि अमित चौधरी, कानि देवेन्द्र ममगांई मौजूद रहे।

आरोपियों का नाम पता

1- नरपाल पुत्र स्व. गोविन्दा  नि. ग्राम छितावर थाना कीरतपुर जिला बिजनौर, उ.प्र. हाल निवासी जाखन राजपुर देहरादून उम्र 62 वर्ष

2- प्रेमपाल पुत्र स्व0 गोविन्दा  नि. ग्राम छितावर थाना कीरतपुर जिला बिजनौर   उ.प्र.  उम्र 65 वर्ष

3- सरोजबाला पत्नी स्व. ऋषिपाल नि. ग्राम छितावर थाना कीरतपुर बिजनौर उ.प्र. हाल- नि. पेट्रोल पम्प  के पीछे जाखन राजपुर देहरादून उम्र-60 वर्ष

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here