सीएम त्रिवेंद्र रावत का बयान, डेंगू से मत घबराइये, पैरासिटामोल खाइये, अफवाह मत फैलाइये

देहरादून : उत्तराखंड में डेंगू का प्रकोप देखने को मिल रहा है वहीं विपक्ष में बैठी कांग्रेस ने भी डेंगू के बनाने सरकार परखूब हमले किए और डेंगू के जरिए स्वास्थय विभाग की व्यवस्थाओं पर भी सवाल खड़े किए.

सरकारी व्यवस्थाएं पूरी तरीके से दुरुस्त हैं-सीएम

वहीं विपक्ष के आरोपों को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हर बार यही कहते हुए जवाब दिया है कि सरकारी व्यवस्थाएं पूरी तरीके से दुरुस्त हैं. वहीं बुधवार को सीएम आवास में मीडिया से बातचीत करते हुए सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि डेंगू के खिलाफ इस तरीके से माहौल प्रदेश में बनाया गया है कि जिससे आम जनता में खौफ सा फैल गया है. यहां तक की सरकारी अस्पतालों में जो सस्ते दामों पर हो सकता था उस ट्रीटमेंट के लिए डेंगू पीड़ितों ने प्राइवेट अस्पताल में लाखों रुपये खर्च कर डाले, सीएम ने कहा कि डेंगू से बचाव का पहला उपाय जागरुकता ही है और अगर किसी को डेंगू हो जाता है तो पैरासिटामोल की गोली से भी डेंगू ठीक हो सकता है.

पैरासिटामोल 650 mg लें-सीएम

डेंगू के मरीजों को सलाह देते हुए कहा है कि अगर वे पैरासिटामोल 650 mg लेंगे और आराम करेंगे तो बिल्कुल ठीक हो जाएंगे. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि उत्तराखंड में डेंगू को लेकर कोई महामारी जैसी स्थिति नहीं है. उन्होंने कहा कि पैरासिटामोल की 650 mg की खुराक खाने और आराम करने से ही डेंगू की बीमारी ठीक हो जाएगी.

कई लोगों ने सीएम के बयान को किरकिरी के तौर पर माना

सीएम के इस बयान को कई लोग उनकी किरकिरी के तौर पर भी मान रहे हैं लेकिन इस बात को डॉक्टर भी स्वीकार करते हैं कि डेंगू में प्लेटलेट्स गिरती है तो उसका अभी तक ऐसा उपचार नहीं है जिससे प्लेटलेट्स को बढाया जाए इसलिए डॉक्टर भी डेंगू में पैरासिटामोल खाने की सलाह देते हैं साथ ही घरेलू उपचार जैसे गिलोय का रस, पपीते के पत्ते का पानी, कीवी का फल, बकरी का दूध आदि से प्लेटलेट्स बढ़ाने की सलाह देते हैं.

डॉक्टर की सलाह और सीएम के बयान पर गौर फरमाएं तो भले ही सीएम ने ये बयान सीएम आवास में कैमरे के आगे दिया हो लेकिन कुछ हद तक सीएम के बयान को जायज भी ठहराया जा सकता है क्योंकि वास्तव में डेंगू होने पर प्लेटलेट्स को बढ़ाने की दवाई नहीं बनी है जिससे की डेंगू से जल्द उभरा जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here