उत्तराखंड : कोचिंग के नाम पर 160 बच्चों को ठगा, जांच में जुटी पुलिस

देहरादून: उत्तराखंड में साइबर ठगी के मामले तो लगातार बढ़ ही रहे हैं। साथ ही किटी और जमीनों की धोखाधड़ी के मामले भी लगातार सामने आ रहे हैं। अब एक और मामला सामने आया है। इस मामले में कुछ ठगों ने एनडीए की कोचिका के नाम पर 160 बच्चों से लाखों की ठगी को अंजाम दे दिया। मामले का खुलासा छत्तीागढ़ से मिली एक शिकायत के बाद हुआ है। शिकायत मिलने पर डीजीपी अशोक कुमार ने एसएसपी को जांच के आदेश दिए और एक सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट देने को कहा है।

भिलाई छत्तीसगढ़ निवासी हिना राठौड़ ने पुलिस मुख्यालय में डीजीपी अशोक कुमार से मुलाकात की। हिना ने बताया कि उनके बेटे पराग ने भिलाई में गत वर्ष 11वीं कक्षा उत्तीर्ण की। इसके बाद उन्होंने बेटे को 12वीं की पढ़ाई कराने के साथ एनडीए की तैयारी के लिए कोचिंग करवाने का फैसला किया। इसके लिए गूगल पर कोचिंग सेंटर की तलाश की और देहरादून में प्रेमनगर स्थित आफिसर्स एनडीए एकेडमी को चुना।

फोन पर संपर्क करने पर कोचिंग सेंटर के कर्मचारियों ने बताया कि उनकी एकेडमी का पेसलवीड स्कूल के साथ करार है। इसके तहत पराग पेसलवीड स्कूल से 12वीं की पढ़ाई और उनकी एकेडमी से एनडीए की कोचिंग कर सकता है। हिना के अनुसार उन्होंने अक्टूबर 2021 में ढाई लाख रुपये देकर पराग का दाखिला आफिसर्स एनडीए एकेडमी में करा दिया। उसी महीने पराग देहरादून पहुंचा तो एकेडमी ने उसे हास्टल के बजाय प्रेमनगर स्थित स्पाट आन होटल में अन्य छात्रों के साथ ठहराया, जहां रहने-खाने का अच्छा प्रबंध नहीं था।

इस पर उन्होंने एकेडमी में फोन किया। एकेडमी स्टाफ के सदस्य प्रदीप ने उन्हें बताया कि हास्टल में रंग-रोगन का काम चल रहा है, इसलिए छात्रों को दूसरी जगह रखा गया है। हिना ने बताया कि पराग समेत अन्य छात्रों को पूरा साल रखने के बावजूद एकेडमी ने न तो उन्हें एनडीए की कोचिंग करवाई और न ही किसी स्कूल में भेजा। ऐसे में उनका पूरा साल बर्बाद हो गया। हिना के अनुसार, जब उनके साथ अन्य छात्रों के स्वजन पेसलवीड स्कूल पहुंचे तो स्कूल के चेयरमैन प्रेम कुमार कश्यप ने बताया कि आफिसर्स एनडीए एकेडमी को उन्होंने हास्टल किराये पर दिया था।

एकेडमी पर उनका 34 लाख रुपये बकाया है। यह धनराशि मांगने पर एकेडमी के स्टाफ ने बच्चों को कहीं और शिफ्ट कर दिया। हिना के अनुसार एकेडमी ने 160 बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। इसकी शिकायत उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारियों से भी की है। डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि शिकायत मिली है कि एकेडमी की ओर से छात्रों के स्वजन को धोखे में रखकर उनका दाखिला करवाया गया। एसएसपी को इसकी जांच सौंपी गई है। शिकायत सही पाई गई तो आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here