केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने की भेड़-बकरी पालकों के लिए मुआवजे की मांग

SHEEP DAIDरूद्रप्रयाग-  केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने जिले के उन पालसियों को सूबे की सरकार से मुआवजा देने की मांग की है जिनकी सैकड़ों भेड़-बकरियां आजकल आसमान से बरसे ओलों से बेमौत मर गई। ताकि उनके जीवन यापन का साधन बरकरार रहे।

दरअसल सूबे के मौसम विज्ञान ने 4 अप्रैल को अपने मौसम बुलेटिन में कहा था कि 7 अप्रैल तक सूबे का मौसम खराब रहेगा। मैदानी इलाकों मे जहां बरिश palci news finalऔर ओले की संभावना जताई थी वहीं राज्य के पहाड़ी जिलों को अलर्ट जारी किया था।

खासकर रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, पिथौरागड़ चमोली और बागेश्वर जिला प्रशासन को मौसम के लिहाज से आगाह किया था। बावजूद इसके जिला प्रशासन ने मौसम की चेतावनी को हल्के में लिया। नतीजा ये हुआ कि रुद्रप्रयाग के कई भेड़ बकरी पालकों के सामने भुखमरी की नौबत आ गई।

manoj rawat rawat final
फाइल फोटो

इसे प्रशासन की चूक ही कहेंगे कि तकनीक के जमाने में भी जिला प्रशासन उन भेड़ पालकों तक मौसम विभाग की सूचना को नहीं पहुंचा पाया जो अपनी भेड़ बकरियों को लेकर हर साल की तरह बुग्यालों की ओर निकल गए थे।

दरअसल पहाड़ी इलाकों मे सदियों से पशु पालन मुख्य कारोबार रहा है और हर साल भेड़ और बकरी पालक गरमियों में बुग्यालों की ओर जाते रहे हैं। लेकिन इस बार अप्रैल में आसमान से बरसे ओलों से जिले के बुग्यालों में सैकड़ों भेड़-बकरियों की मौत हो गयी। मवेशियों के बेवक्त मरने से पालसियों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

अपने फेसबुक पेज को अपडेट करते हुए केदारनाथ विधायक ने पूरी घटना का विवरण देते हुए जहां सोशल मीडिया में पालसियों की पीड़ा का जिक्रभी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here