3 साल के शेख के विराट-पीटरसन दिवाने, इस दिग्गज ने दिया एकेडमी में ट्रेनिंग का ऑफर

3 साल के शेख शाहिद के लाखों दिवाने हैं अब आप सोच रहे होंगे इस बच्चे में ऐसी क्या बात है. तो बता दें कि इस बच्चे में सचिन और विराट जैसी बल्लेबाजी की काबिलियत है जिसे देख विराट-पीटरसन और गांगुली भी इसके दिवाने बन बैठे हैं. 3 साल के बच्चे की बल्लेबाजी देखते हुए विराट कोहली ने उसे ‘अद्भुत’ करार दिया, तो इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज केविन पीटरसन ने कोहली से उसे भारतीय टीम में शामिल करने की सिफारिश की। सोशल मीडिया में ये बच्चा छाया हुआ है और देश-दुनिया में उसकी बल्लेबाजी की तारीफ हो रही है।

दक्षिण कोलकाता के बेहला अंचल के शकुंतला पार्क, मूचीपाड़ा निवासी शैलून में काम करने वाले और शाहिद के पिता शेख शमशेर ने बताया कि एक दिन मैं घर में टीवी पर भारत-आस्ट्रेलिया का क्रिकेट मैच देख रहा था। शाहिद उस वक्त दो साल का था। उसने अचानक मुझसे कहा कि उसे भी क्रिकेट खेलना है। मैंने उसे प्लास्टिक का बल्ला और गेंद लाकर दी। उसने जब शॉट लगाया तो मैं दंग रह गया। वह बिल्कुल पेशेवर क्रिकेटरों के अंदाज में बल्लेबाजी कर रहा था। अगले छह महीने तक मैंने उसे घर में प्रैक्टिस कराई। ढाई साल का हुआ तो क्रिकेट एकेडमी में भर्ती करने का फैसला किया।

इतने छोटे बच्चे को भर्ती लेने से इन्कार कर दिया था

शाहिद के पिता शमशेर ने बताया कि उसे लेकर गरियाहाट के पास स्थित स्वामी विवेकानंद स्कूल ऑफ क्रिकेट पहुंचा तो वहां इतने छोटे बच्चे को भर्ती लेने से इन्कार कर दिया गया। काफी जोर देने पर कोच ने पहले बच्चे का टेस्ट लेने की बात कही। शाहिद ने पहली ही गेंद पर इतना शानदार शॉट लगाया कि कोच दंग रह गए और तुरंत उसे भर्ती ले लिया। तब से वहीं उसका प्रशिक्षण चल रहा है।

कोच ने उपहार में दिया शेख की हाइट का बल्ला

कोच अमित चक्रवर्ती ने बताया कि हमारे यहां न्यूनतम पांच साल के बच्चे का ही दाखिला लिया जाता है। उसके पिता के काफी जोर देने पर मैंने कहा कि एक बॉल डालकर देखता हूं। शाहिद ने पहली ही गेंद पर इतना शानदार स्ट्रैट ड्राइव लगाया कि मैं हक्काबक्का रह गया। फ‌र्स्ट क्लास क्रिकेटर रह चुके 62 वर्षीय इस अनुभवी कोच ने कहा कि शाहिद में विलक्षण प्रतिभा है। कोच फिलहाल शाहिद को प्लास्टिक की हार्ड गेंद और टेनिस बॉल से प्रैक्टिस करा रहे हैं। शाहिद के कद के मुताबिक लकड़ी का बल्ला तक बाजार में उपलब्ध नहीं है। कोच ने बमुश्किल एक दुकान से लकड़ी का छोटा सा बल्ला ढूंढकर उसे उपहार में दिया है।

सौरव गांगुली ने कही ये बात

सौरव गांगुली ने बीते 15 दिसंबर को लंदन से साल्टलेक के करुणामयी इलाके में स्थित अपनी क्रिकेट एकेडमी ‘वीडियोकॉन 22 या‌र्ड्स’ के निदेशक संजय दास को फोन कर शेख शाहिद के बारे में जानकारी ली। इसके बाद संजय दास ने शाहिद के कोच अमित चक्रवर्ती को फोन करके कहा कि दादा नहीं चाहते कि शेख शाहिद जैसी प्रतिभा आर्थिक तंगी के कारण खो जाए। जल्द ही उसकी स्पांसरशिप का इंतजाम उनकी क्रिकेट एकेडमी की ओर से किया जाएगा।

आपको बता दें कि 3 साल के शाहिद की बल्लेबाजी के सोशल मीडिया पर लाखों दीवाने हैं। शाहिद जब दो साल आठ महीने का था, उस वक्त पिता ने उसकी बल्लेबाजी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। वह तेजी से वायरल हुआ और 91 लाख लाइक्स मिले। इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर माइकल वॉन ने भी ट्वीट कर शाहिद की जमकर तारीफ की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here