PCC चीफ ने पुलिस के सामने रखा मेयर यशपाल राणा का पक्ष, मिल सकती है राणा को जमानत!

रुड़की –
मेयर
 यशपाल राणा को जेल भेजे जाने के बाद अब कांग्रेस के तेवर सरकार पर तल्ख हो गए हैं। आज रुड़की पहुँचे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष  प्रीतम सिंह ने कहा कि मेयर की गिरफ्तारी के मामले में रुड़की प्रशासन ने प्रदेश सरकार के दबाव में मेयर को झूठी धाराओ में गिरफ्तार किया है।
मेयर की गिरफ्तार को तानाशाही रवैया करार देते हुए पीसीसी चीफ प्रीतम सिंह ने कहा है कि सरकार के इस रवैए  को कांग्रेस पार्टी कतई  बर्दाश्त नही करेगी। पिरान कलियर विधायक के आवास पर पहुँचे कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने प्रदेश की भाजपा सरकार और पुलिस प्रशासन को चेतावनी दी कि अगर पुलिस ने मेयर यशपाल राणा के पुत्र की तरफ से दी गई तहरीर पर मुकदमा दर्ज नही किया तो, सभी कांग्रेसी सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेंगे।
प्रीतम सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने एक तरफा कार्यवाही की है और सरकार के दबाव के चलते मेयर पर झूठा मुकदमा दर्ज कर  जेल भेजा है। जबकि दूसरी ओर भाजपा पार्षद पर कोई कार्यवाही नही की गयी है।
हालांकि प्रेसवार्ता के बाद प्रीतम सिंह रुड़की में एस.पी.देहात से मिले और उन्होंने मेयर यशपाल राणा का पक्ष रखा। जिसका नतीजा ये हुआ कि काफी जद्दोजहद के बाद पुलिस ने मेयर पर लगाई गई धारा 307 को हटाने की बात कही।जबकि पार्षद चंद्रप्रकाश बाटा के खिलाफ मेयर के पुत्र द्वारा दी गई तहरीर पर भी मुकदमा दर्ज करने की बात एस पी देहात ने कही।
ऐसे में माना जा रहा है कि धारा 307 हटने के बाद अब मेयर यशपाल राणा को जमानत मिलने में आसानी हो जाएगी। हालांकि होगा क्या ये तो वक्त ही बताएगा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here