दरिंदों की हैवानियत, मानसिक रोगी किशोरी को अधमरा कर किया सामूहिक दुष्कर्म

rape-cases

हल्द्वानी: दो दरिंदों पर हैवानियत इस कदर दिमाग में सवार थी कि दिव्यांग और मानसिक तौर पर कम कमजोर किशोरी पर उन्हे जरा भी दया नहीं आई. दोनो ने पहले तो किशोरी की पिटाई की और उसके बाद सामूहिक दुष्कर्म किया। और अधमरी हालत में छोड़कर फरार हो गए.

आठ मार्च की रात किशोरी घर से निकलने के बाद इंदिरानगर स्थित एक बरात घर में चली गई थी। बरात घर के बाहर खड़ी किशोरी पर नजर पड़ते ही गौला नदी में मजदूर करने वाले मूल चंद की हैवानियत जाग उठी। वह किशोरी को अगवा कर पैदल ही गौजाजाली की ओर ले गया। आंवलाचौकी गेट के पास पहुंचने पर मूल चंद ने मजदूर भूप सिंह को साथ ले लिया।

दोनों किशोरी को गौला के जंगल में ले गए

दोनों किशोरी को गौला के जंगल में ले गए। उसने विरोध किया तो दोनों ने उसे बेरहमी से पीट दिया। किशोरी के सिर, चेहरे व शरीर पर आईं चोटें हैवानियत की हद बयां कर रही थीं।

पुलिस ने खंगाले सीसीटीवी फुटेज 

दुष्कर्मी मजदूरों को पकड़ने में बरात घर व एक अन्य स्थान पर लगे सीसीटीवी कैमरे अहम साबित हुए। पुलिस ने इंदिरानगर स्थित बरात घर के सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो उसमें किशोरी दिख गई। परिजनों व पुलिस की खोजबीन के दौरान देर रात किशोरी आंवलाचौकी गेट के पास स्थित पेट्रोल पंप के पास मिल गई थी।

जांच में पता चला कि किशोरी के साथ दिख रहा युवक आंवलाचौकी गेट के पास रहने वाला ही गौला मजदूर मूल चंद है। शुक्रवार की शाम मूल चंद के हत्थे चढ़ते ही भूप सिंह के भी साथ होने का पता चला। इस पर भूप सिंह को भी दबोच लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here