AUDIO वायरल : डीजी को फोन पर बोला युवक- साहब मेरी मदद करो, डीजी बोले- व्हाट्सएप पर भेजो…

उधम सिंह नगर : बण्डिया में विवादित जमीन का मामला दिन प्रतिदिन तूल पकड़ता जा रहा है। इंसाफ की आस में जसवीर ने पुलिस महानिदेशक (अपराध एवं कानून व्यवस्था) अशोक कुमार से दूरभाष पर वार्ता कर इंसाफ की गुहार लगाई है। डीजी ने व्हाट्सएप पर सारे दस्तावेज भेजने को कहा है। वहीं, किच्छा एसडीएम विवेक प्रकाश ने सीओ सुरजीत कुमार को पत्र लिखकर विवादित जमीन से सामान एवं मलबा इत्यादि को नहीं उठाने देेने की जसवीर की मांग पर कार्रवाई करने को कहा है।

बीती 21 अगस्त 2020 को बण्डिया स्थित नमक फैक्ट्री पर कुछ लोगों द्वारा वहां बने मकानों को ध्वस्त करना प्रशासन पर सवालिया निशान खड़े कर गया। बण्डिया निवासी जसवीर सिंह का कहना है कि उक्त सम्पत्ति का मामला सिविल कोर्ट में विचाराधीन है। बावजूद इसके उमेश कुमार एवं राहुल कुमार ने इस सम्पत्ति को किच्छा के कुछ रसूखदारों को बेंच दिया। आरोप है कि जिन लोगों ने इस विवादित सम्पत्ति को क्रय किया है वो स्थानीय पुलिस व प्रशासन की मदद से कब्जा कर रहे हैं साथ ही इन्होंने बिना किसी पूर्व सूचना के जसवीर व अन्य लोगों के बने पक्के भवनों को भी ध्वस्त कर दिया। इस पूरे मामले में पुलिस प्रशासन और एसडीएम के बयानों में अंतर होना किसी बड़ी गड़बड़ी को भी दर्शाता है। इधर, जसवीर द्वारा एसएसपी को शिकायत करने के बाद भी जब उसे इंसाफ नहीं मिला तो उसने डीजीपी अशोक कुमार से दूरभाष पर बात कर अपनी समस्या बताई तथा कानूनी मदद की गुहार लगाई। जिस पर डीजी अशोक कुमार ने जसवीर से संबंधित सभी दस्तावेजों को व्हाट़्सएप पर भेजने को कहा। जसवीर ने डीजी से बात करने के दौरान किच्छा के कई लोगों से खुद की जान का खतरा बताया है और इंसाफ की मांग की। वहीं मंगलवार को जसवीर ने किच्छा एसडीएम विवेक प्रकाश को लिखित ज्ञापन देकर विवादित जमीन से किच्छा निवासी रसूखदार लोगों द्वारा उनका सामान व मलबा उठाए जाने की शिकायत की। जिस पर एसडीएम विवेक प्रकाश ने सीओ सुरजीत कुमार को पत्र लिखकर जसवीर की मांग पर नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा। बहरहाल पूरे मामले ने अब तूल पकड़ लिया और इसमें मान-मनोव्वल का खेल तेज हो गया है। लेकिन जसवीर अपनी मांग से पीछे हटता नहीं दिख रहा है।

अब भी चल रहा है मलबा उठाने का काम

जसवीर ने बताया एसडीएम द्वारा सीओ को पत्र लिखे जाने के बाद भी मौके पर मलबा व सामान इत्यादि को उठाने का काम अभी भी किया जा रहा है। प्रशासन पर भारी दबाव है जिस कारण मेरी सुनवाई नहीं हो रही है। ऐसे में वो बच्चों के साथ आत्मदाह करने की चेतावनी भी दे रहा है। बता दें कि जसवीर एएसपी देवेंद्र पिंचा के सामने भी आत्मदाह करने की चेतावनी दे चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here