नैनीताल में 13 शव रिकवर, 7 के दबे होने की आशंका, करोड़ों का नुकसान…पढ़िए

नैनीताल- उत्तराखंड के पहाड़ों में पिछले चौबीस घंटे से लगातार हो रही बारिश से काफी नुकसान हुआ है। नैनीताल जिले के पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन के कारण 9 मजदूरों समेत कुल 15 लोगों की मौत हो गयी थी। रामगढ़ ब्लॉक के झुतिया सुनका ग्रामसभा में 9 मजदूर घर में ही जिंदा दफन हो गए थे। ये सभी मोटर मार्ग के निर्माण कार्य में लगे हुए थे। शाम को पास में ही एक मकान में रह रहे इन मजदूरों के ऊपर 24 घन्टे से हो रही बारिश के कारण मलबा आ गया। जिससे 9 की मौत हो गयी।

वहीं जिले में आपदा प्रभावित इलाकों से 13 शव रिकवर किये गए हैं। खबर है कि ओखलकांडा में 7 लोगों के दबे होने की आशंका है। रेस्क्यू के लिए एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची है। जिले में अलग अलग जगहों पर रेस्क्यू टीम को लगाया गया है। बीते दिन खुद एसएसपी ने मोर्चा संभाला था और सड़क खुलवाई थी। लोगों को नदी पार कराई थी।

वहीं खबर है कि नैनीताल जिले में कई जगह बिजली और पेयजल आपूर्ति ठप है। लोग परेशान हैैं। नैनीताल जिले में 10 पुलों को बड़ा नुकसान हुआ है। जिले में आपदा से 35 करोड़ के नुकसान की आशंका जताई गई है। वहीं डोगरा रेजिमेंट के 100 जवानों को रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाया गया है।नैनीताल डीएम का कहना है कि आपदा पीड़ितों को सम्भव मदद दी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here