लिंग परीक्षण कर रहे डॉक्टर का भंडाफोड़, मोटी रकम लेकर करते थे भ्रूण जांच

लक्सर- रुड़की में कुछ महीने पहले एक नर्सिंग होम में हो रहे लिंग परीक्षण पर हरियाणा की टीम ने छापेमारी कर मौके से दलाल समेत लिंग परीक्षण कर रहे डॉक्टर को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद एक बार फिर से हरिद्वार के लक्सर में ऐसा ही मामला सामने आया.

दरअसल लक्सर के अग्रवाल मेडिकल सेंटर यानि निंर्संग होम पर बीती शाम ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नरेंद्र सिंह भंडारी ने डॉ. शाक्या, एस.डी.एम लक्सर कौस्तुभ मिश्रा और संयुक्त टीम ने बड़ी कार्रवाई की. जिसमे मौके पर नर्सिंगहोम में लिंग परीक्षण करते डॉक्टर को नकद रकम के साथ गिरफ्तार किया गया.

आपको बता दें छापेमारी की टीम ने मौके से 15 हजार रूपये नगद, कुछ पेपर और कुछ सीडी बरामद की. दरअसल लम्बे समय से मिल रही शिकायत के बाद टीम ने छापेमारी की और कार्रवाही को अंजाम दिया.

डॉ. यशपाल अग्रवाल ने खुद लिंग परीक्षण करना स्वीकार किया

सबसे अहम बात यह हुई कि नर्सिंग होम के डॉ. यशपाल अग्रवाल ने खुद लिंग परीक्षण करना स्वीकार किया. मौके पर ही अल्ट्रासाउन्ड मशीन को सीज कर दिया गया और डा. यशपाल अग्रवाल को हिरासत में ले लिया गया.

आईपीसी की धारा 315 के तहत मुकददमा दर्ज

डा. यशपाल के खिलाफ आईपीसी की धारा 315 के तहत मुकददमा दर्ज किया गया है. टीम द्वारा यह कार्रवाई लगभग रात्रि 2:00 बजे तक पूरी की गई।

रंगे हाथों पकडने के लिये इस तरह बनाया गया प्लान

जब खबर उत्तराखंड के संवाददाता ने इस पूरे मामले को लेकर टीम के लीडर ज्वाईन्ट मजिस्टेट नरेन्द्र भंडारी से बात की तो उन्होने बताया इस नर्सिंगहोम की काफी लम्बे समय से शिकायत मिल रही थी। लेकिन इसे रंगे हाथों पकडने के लिये इस तरह का प्लान बनाया गया था.

उन्होंने बताया कि हमारी टीम ने एक प्लान बनाया जिसमे एक महिला को शामिल किया गया जिसे लिंग परीक्षण कराने के बहाने से पैसे देकर नर्सिंगहोम भेजा गया. जैसे ही पैसे लेकर डा. यशपाल अग्रवाल लिंग परीक्षण कर रहे थे उन्हे मौके से पकड़ लिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here