आखिर क्यों हैं रमेश भट्ट और दर्शन सिंह रावत कुछ लोगों के निशाने पर 

देहरादून- उत्तराखंड की सियासत जितनी अजीब है उतनी ही अजीब सियासत इन दिनों मीडिया में एक्टिव कुछ तथाकथित स्वय्मभू दलाल लोगों की भी देखने को मिल रही है, जो खुद के काम या दलाली न सिद्ध होने पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह को इन दिनों उत्तरा प्रकरण के बहाने घेरने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं, साथ ही मुख्यमंत्री पर व्यक्तिगत हमले भी जारी रखना इन तथाकथित लोगों की कार्यशैली में शामिल है, मुख्यमंत्री के साथ ही मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट और मुख्यमंत्री के मीडिया समन्वयक दर्शन सिंह रावत भी आजकल ऐसे ही तत्वों के निशाने पर हैं, आइये पहले जानते हैं कौन हैं रमेश भट्ट और दर्शन सिंह रावत –

दर्शन सिंह रावत – 
मूलतः उत्तराखंड के निवासी दर्शन सिंह रावत का मीडिया से 3 दशक पुराना रिश्ता है, अमर उजाला , दैनिक जागरण और हिन्दुस्तान जैसे प्रमुख अखबारों में प्रमुख पदों पर रहे दर्शन सिंह रावत को मीडिया में सब इज्जत के साथ दर्शन भाई ही बुलाते हैं, स्वभाव से सौम्य, शांत, और हमेशा अपने चेहरे पर मुस्कान रखने वाले दर्शन रावत को कभी भी किसी ने ऊंची आवाज में बात करते नहीं सुना होगा, यही वजह है की जब त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने उस समय हिंदुस्तान अखबार देहरादून में ब्यूरो प्रमुख के पद पर विराजमान दर्शन सिंह रावत को मीडिया समन्वयक के रूप में चुना, क्यूंकि दर्शन सिंह रावत को असली मीडिया और नकली मीडिया तथा मीडिया के नाम पर दलाली करने वाले सभी लोगों की हकीकत ठीक से पता थी, इसलिए जब इस तरह के तत्वों के अपने कामों के लिए दर्शन सिंह रावत के माध्यम से मुख्यमंत्री से उलटे दलाली के काम कराने चाहे तो बताया जाता है की दर्शन सिंह ने ऐसे लोगों की मदद तो दूर उनको मुख्यमंत्री से मिलाने तक से मना कर दिया, जिसकी वजह से  तथाकथित लोग आजकल उत्तरा प्रकरण के बाद दर्शन सिंह रावत को गाहे बगाहे कुछ फर्जी समाचारों या कुछ व्यंग कसकर घेरने की ताक  में जुटे दिखाई दे रहे हैं।
रमेश भट्ट –
रमेश भट्ट भी मूलतः उत्तराखंड के नैनीताल जिले के रहने वाले हैं, जिन्होंने में पत्रकारिता में स्नातक करके भारत सरकार के लोक सभा टी वी के साथ ही देश के प्रमुख मीडिया संस्थानों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है, प्रधान मंत्री मोदी के २० दौरों को अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग से कवर करने वाले रमेश भट्ट प्रतिष्ठित राष्ट्रिय न्यूज़ चैनल न्यूज़ नेशन के प्राइम टाइम एंकर बनकर उत्तराखंड का नाम रोशन करते रहे।  वर्तमान की त्रिवेंद्र सरकार बनने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखंड के इस राष्ट्रिय पहचान रखने वाले युवा चेहरे को अपना मीडिया सलाहकार नियुक्त किया, जिस से कुछ लोगों के पेट में दर्द भी हुआ, जब मीडिया के कुछ स्वयंभू तथाकथित दलालों ने मीडिया की आड़ लेकर रमेश भट्ट के पास अपने उलटे सीधे प्रस्ताव और काम लेकर गए तो तेज तर्रार रमेश भट्ट ने साफ़ शब्दों में उनसे कह दिया कि मुख्यमंत्री की जीरो टालरेन्स सरकार है और इस तरह के कामों के लिए उनसे कभी संपर्क न करें।
बस यहीं से रमेश भट्ट और दर्शन सिंह रावत मीडिया के इन् स्वयंभू कमांडरों के निशाने पर हैं , और आजकल जब सुनियोजित ढंग से एक साजिश के तहत ऐसे लोग त्रिवेंद्र सिंह सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए लोग कभी इशारों में और कभी खुल कर दर्शनं सिंह रावत जैसे सज्जन पुरुष और रमेश भट्ट को निशाने पर लेने की कोशिश में जुट गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here