जल संस्थान की लापरवाही से गई एक मासूम की जान, इस बच्ची का क्या कसूर?

नई टिहरी : इस बच्ची का क्या कसूर था जो आपने पिता के साथ बाजार में घूमने निकली था. पापा ने भी बड़े प्यार से बिटिया को स्कूटी पर बैठाया लेकिन किसे पता था कि उनकी प्यारी सी मासूम सी बिटिया घर वापस नहीं लौटेगी.

दरअसल टिहरी जिले के घनसाली बाजार के पास सरस्वती शिशु मंदिर के पास 4 साल की बच्ची की स्कूटी से छिटक कर गिरने से मौत हो गई. स्थानीय लोगों का आरोप है कि स्पीड ब्रेकर मानकों के अनुकूल नहीं है। इससे अक्सर यहां पर हादसों की आशंका बनी रहती है।

दरअसल घनसाली का स्थानीय निवासी दुकानदार अपनी 4 साल की बेटी को घुमाने घनसाली बाजार ले जा रहा था. इस दौरान ब्रेकर पर स्कूटी ने जम्प किया तो स्कूटी पर आगे बैठी बच्ची नीचे गिर गयी जो कि पीछे से आ रही गाड़ी के पिछले पहिये के नीचे आ गयी और बच्ची की मौके पर ही मौत हो गयी.

खास बात यह है कि ब्रेकर जल संस्थान द्वारा अपनी पाइप लाइन को ढकने के लिए बनाया गया था जो कि क्षमता से भी अधिक ऊँचा है. जिसने इस हादसे को अंजाम दे दिया. इससे पहले भी यहां ऐसी घटनाएं घट चुकी है. इसमें गलती उस पिता की नहीं जो अपनी बेटी की जिद्द पर उसे घुमाने ले गया या गलती उस मासूम की नहीं जो पिता का हाथ पकड़कर और स्कूटी में बैठकर बाजार घूमने गई.

गलती जिसकी भी हो लेकिन एक मां-बाप ने अपनी मासूम बच्ची को खो दिया. इसका जिम्मेदार कौन है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here